RCM WORLD


प्रिय साथियों                                                        
                   

RCM WORLD


जय RCM  आपकाwww.pravingyan.com me apka welcome है, मैं www.pravingyan.com के माध्यम से आपको माननीय ,टी सी छाबड़ा जी का संदेस आप लोगो तक पहुचाने का मुझे अवसर मिला, आपको यह संदेस अच्छा लगता है तो फेसबुक ,व्हाट्सअप पर शेयर जरूर करे  ताकि RCM का संदेस जन-जन तक पहुचे। RCM का प्राण गीत जरूर पढ़े , इस गीत से भाईचारे की भावना ,गरीबी ,बेरोजगारी लढाई ,झगड़े ,भ्रष्टाचार ,आतंवाद etc .से मुक्ति और अपने परिवार और समाज के सात खुश रहने की प्रेरणा मिलती है।   


                                                                     प्राण गी 

  खुशहाल यहाँ पर हर जन हो , सुख शांति से पूरण जीवन हो।
सब काम करे अपना -अपना ,खुद पूरा करे अपना सपना। 

कोई हाथ यहाँ ना फैले अब ,जन स्वावलम्बी बन जावे सब। 
चोरी -फरेब का नाम ना हो ,कोई भी यहाँ बदनाम ना हो। 

ना कोई किसे गुमराह करे ,सब सच्चे पथ के राही बने। 
आतंक न हो अब जीवन में ,सब प्रेम भाव रखे मन में।

हर कोई किसी के साथ चले ,हर संकट में सब हाथ मिले। 
ना ऊँच-नीच  की बात करे ,इक दूजे का सम्मान करे। 

ना जात -पात की दुरी हो , ना सिमा की मज़बूरी हो। 
हमें कोई जुड़ा ना कर पावे ,सब भारतवासी कलावे। 

मजबूर नही हम महान बने, भारत माँ की हम शान बने। 
पूरन होगी सबकी आशा ,यह RCM की अभिलाषा।   
   


मा. T.C.CHHABRA जी को मेरा JAY RCM ,टी.सी जी  के मन में RCM का खयाल जुलाई २००० की एक सुबह २ .३० बजे  मन में आया ,उस विचार ने उनकी नींद को पूरा उड़ा दिया।  वह एक अदभुत विचार था। ओ विचार था , नेटवर्क का प्राकृतिक मुलभुत सिद्धान्त। पूरी सृष्टि की रचना जिस सिद्धान्त से हुई है। हम सब की रचना करने वाला एक है और उसके नेटवर्क से ही हम सब पुरे जगत में फैले हुये है। हम सब के तार कही ना कही  दूसरे से जुड़े हुये है। हमारा आपस में बहुत गहरा रिश्ता हैये पल बहुत विस्मयकारी थे ,सब कुछ दिवा स्वप्न जैसा लगता था। घर -घर में रोशनी के चिराग जलते दिखाई दे रहे थे। इंसानो के बिच पवित्र प्रेम की झलक दिखाई दे रही थी। जगत के सारे संताप मिटते हुये नजर आ रहे थे। जब हम कोई सुनहरा ख्वाब मन , संजोते है और वह ख्वाब हकिगत बनता हुआ नजर आता है तो उम्मीदों के पंख लग जाते है।  मैं अपनी भावनाओ से ,  अपने  इरादों से ,अपनी वचनबद्धता से,अपने संकल्प से,इतना आगे बढ़ गया था की मुझे अभी भी अपने भीतर उस शक्ति का अहसास हुआ की मैं इस परिस्थिति का मुकाबला कर सकता हु। जहा नेटवर्क के सिद्धान्त के कई आश्चर्यचकित करने वाले सकारात्मक परिणामो को  नजदीक से  देखा वही इसकी कई अनिवार्यताएं भी सामने आई। नेटवर्क मार्केटिंग के लिए यह बहुत आवश्यक है ,की लोग इसके साथ लगातार जुड़े रहे और काम करते रहे।  ग्रुप पढता रहे। सभी लोग ईमानदारी से व एक दूसरे के हित के लिए कार्य करें।  



 RCM का उद्देश है , जन -जन के जीवन को सुन्दर और समृद्ध बनाना।  rcm इसकी सशक्त और स्थायी नीव रखना चाहता है , इसकी सारी तयारिया खयाली चमत्कारों और अस्थायी प्रलोभनो के बजाये व्यवहारिक
सत्य और दूरगामी परिणामो  पर आधारित होती है। पुरुषार्थ ,लगन और आपसी सयोग  जीवन के अनिवार्य अंग है। rcm इन्ही तथ्यों पर आधारित एक अभियान है ,इसका उद्देश्य मूल्य आधारित भारत का निर्माण करना है। आइये अपने पुरुषार्थ और सहृदयता से इस अभियान को सींचे  महान यात्रा में हिस्सा लेकर नये भारत का निर्माण करे।



 आपके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाए।  RCM तीन महान उद्देयों पर बहुत ही व्यावहारिक तरीके से काम कर रहा है

1) स्वास्थ्य रक्षा  - आज देश में स्वास्थ्य की स्थिति लगातार गिरती जा है।  विमारिया बढ़ती जा रही है। RCM इस दिशा में बढ़ा लकाम करना चाहता है।

2) नए भारत का निर्माण - मूल्य आधारित समाज, आपसी मेल -जोल  और भाईचारा आदि के द्वारा नए भारत का निर्माण।

 3) स्वावलम्बन -हर आम इंसान  आत्मनिर्भर बनाने का अवसर  करना।

                                                         JAY RCM
यह भी जरूर पढ़े 
 RCM Business की जानकारी अपने टीम में शेअर 
 करे और आर्थिक आझादी का अभियान सफल करे  
Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.