बराक ओबामा की कॉलेज लाइफ / Barack Obama's College Life


Barack obama

बराक ओबामा  कॉलेज की अपनी पढ़ाई के लिए अमेरिका के होनोलुलुला में रहने लगा और यहाँ का वातावरण उसे स्वर्ग जैसा लगता था। कक्षा के छात्र उसके तरफ हिन दॄष्टि से देखते थे, कक्षा में नया था, उसका काला रंग , सबसे अलग ही दिखता था बीचमें ही उसे उसके मम्मी की याद आती थी पिताजी उसे छोड़के चले गए थे, दूसरे  पिताजी थे वे बहुत ही दूर रहते थे, दादा-दादी के पास रहने लगा उसको अपनी मम्मी की याद बहुत आती थी।


बराक ओबामा ने अपने कॉलेज की यादे '' ड्रीम फ्रॉम माय फादर '' इस पुस्तक में लिखा है यह पुस्तक  उसका आत्मचरित्र है,इस पुस्तक में उन्होंने लिखा है। ....
 पहले ही दिन मुझे टीचर ने प्रश्न पूछा - और मैंने उत्तर दिया मेरा नाम - बराक हुसैन ओबामा है टीचर यह सुनकर अचंभित हो गई क्यों की उसके दादाजी ने बराक के मम्मी और पापा की कहानी बताए थे। टीचर कहने लगी तेरे केनिया के पिताजी के बारे में बता और बराक ने उत्तर दिया '' लोलो '' यह उत्तर सुनकर कक्षा के छात्र हसने लगे और बराक को कक्षा में लोलो के नाम से फुँकार के उसकी मजा लेते थे।

ऐसे संघर्षमय परिस्थिति में बराक अपनी पढ़ाई पूरी करता था। पनहाऊ स्कुल में होने वाले उत्सव में बराक के साथ सभी छात्र खुलमिल जाते थे और बराक बहुत ही खुश होता था। उसको पढ़ाई की कुछ भी चिंता नहीं थी क्यों की उसके पढ़ाई का पाया उसके मम्मी ने इंडोनेशिया में मजबूत करके दिया था वो स्कुल में बहुत ही कम समय में ख्यातकीर्त हुवा उसको उसके दादा-दादी का बहुत ही प्यार मिलता था और सब अच्छा-ही-अच्छा चल रहा था।

लेकिन एक दिन उसके दादाजी ने उसको खबर सुनाया की  , '' बराक तेरे पिताजी (ओबामा सिनिअर) आनेवाले है और तेरी मम्मी भी सौतेली बहन के साथ आनेवाली है यह सुनकर बराक स्तंभित रहा बराक दो साल का था तभी उसके पिताजी ने उसके मम्मी को छोड़ दिया और हार्वर्ड चले गए वहा से वापस नहीं आए थे और दो साल के बाद में दोनों का तलाक हुवा बराक अपने पिताजी को नहीं जानता था  और उसे याद भी नहीं आती थी। बराक के दादा-दादी को उसके पिताजी की याद हर दिन आती थी उसके मम्मी को छोड़ के जाने के बावजुद भी ओबामा (सिनिअर) के हुशारी का अभिमान था।



बराक ओबामा ने अपने पिताजी के प्रथम मिलन की यादे लिखा है की , एक बार की बात है एक दिन मै स्कुल से घर आया और मेरे पिताजी मुझे दिखे और उन्होंने मुझे उठाके अपने बाहों में लिया बराक के पिताजी का लेक्चर  उसके टीचर ने रखा था उस समय उसके मन में डर ही लगता था क्योंकि लड़कों को पता चल जाएगा की यह मेरे पिताजी है , ओबामा (सीनियर) कक्षा में आए तभी अपनी पहचान नहीं बताए वे  बराक ओबामा के तरफ एक छात्र के रूप में ही देखते थे। उसका लेक्चर बहुत ही प्रभावशाली था। उन्होंने केनिया के प्रति जो उनके मन में प्यार था वो प्यार अपने भाषण से प्रगट किया। वहा के रीतिरिवाज, परम्परा, गरीबी इ. की जानकारी बताए।
कुछ समुदाय में सिंह की शिकार किए बिना उसे पुरुष नहीं समजते है ऐसी प्रथा चालू है और देश के आगे नए प्रश्न निर्माण हो रहे है। लेकिन भाषण करते समय बराक से कुछ भी सबंध दिखाए नहीं, इस कारण बराक को अच्छा लगा।

बराक के पिताने उसके मम्मी को तलाक दिया था। उसका बचपना पिता के बिना सुना था। उसकी याद भाषण देते समय उसके मन में आती थी। मम्मी-पापा के बिना उसको अकेला पण  महसूस होता था। अपने काले रंग के कारण गोरे लोग मेरे तरफ हिन् नजर से देखते है इसका उसे पता था।

स्कुल पढ़ते समय उसको एक दोस्त मिला उसका नाम केथ ककुगवा था। वो भी आफ्रिकी-अमेरिकी था। वे दोनों काले रंग के थे इसलिय दोनों की दोस्ती पक्की हो गई। डांसिन फ्लोअर पर उनको गोरे लड़की के साथ डांस नहीं कर सकते थे।



बराक की मम्मी और इंडोनेशियन सौतेली बहन माया होनोलुलु में रहने के लिए आए। दादी-दादा से दूर रहते थे। मानवशशास्त्र का अभ्यास एन पूरा कर रही थी। बराक के मम्मी ने 1980 में बराक के दूसरे पिताजी से तलाक लिया।

माध्यमिक की पढ़ाई पूरी होने के बाद 1979 में लॉस एंजलिस ऑक्सिडेंटल कॉलेज में अर्ज दाखल किए।
हैदराबाद का उसका दोस्त विनय थमलपल्ली और बराक दोनों दोस्त 1980 तक साथ में रहे और पढ़ाई पूरी की उसका सपना था की मै गांव जाऊ और कोई धंदा करू और बराक का सपना था की मै शोषत पीड़ित लोकों के कल्याण के लिए कार्य करुँगा। बराक तीन हप्ते के लिए पाकिस्तान में मोहम्मद और वाहिद के साथ चला गया।
बराक न्यूयॉर्क को जाने के लिए सोच रहा था लेकिन उसके पास पैसा नहीं था। लेकिन ऑक्सीटेंडल कॉलेज की एक योजना थी छात्र के क्षमता वृद्धि के लिए दूसरे महाविद्यालय में भेजने की इसका पता बराक को चला और उसने अर्ज किया उसका नंबर लगा और बराक कोलंबिया महाविद्यालय में लगा। बराक 1981 में न्यूयॉर्क चला गया।



कोलंबिया महाविद्यालय में बराक ने राजयशास्त्र विषय में 1983 में पदवी की पढ़ाई पूरी की।
बराक ने 1988 में हार्वर्ड महाविद्यालय में प्रवेश लिया और एक साल में ही महाविद्यालय में अपने नाम का डंका बजाया उसकी गुणवत्ता और लिखनेकी कला जानकर उसे हार्वर्ड लॉ रिव्ह्यु के संपादक बनाया गया। दो साल तक संपादक पद का कार्यभार संभाला।

1990 में हार्वर्ड लॉ रिव्ह्यु अध्यक्ष पद पर ओबामा का सिलेक्शन हुवा। अमेरिका के कानून के शिक्षण क्षेत्र में बहुमान समजा जाता है। हार्वर्ड महाविद्यालय में किसी भी अश्वेतवर्णीय को अध्यक्ष का बहुमान मिला नहीं।और अमेरिका में उसकी चर्चा चालू हुई थी। अमेरिका के सभी श्वेतवर्णीय समुदाय में ओबामा का बहुत ही आदर होता था। उसकी कर्म भूमि शिकागो में आनंदोत्सव बहुत जोरशोर और हर्ष-उल्लाश के साथ मनाया गया था। 

Barack Obama stayed in Honolulu, USA for his studies of college and the atmosphere here looked like a paradise. The students of the class used to see him on the horizon, he was new in the class, his black color looked different, in the middle he remembered his mother, the father had left him, the other father used to live far away. He lived with grandparents, he used to remember his mother.

Barack Obama has written in his book "Dream from My Father" in his college book, This book is his autobiography, he has written in this book. ....

 On the very first day, the teacher asked me the question - and I answered my name - Barack Hussein Obama. The teacher was amazed to hear why his grandfather told Barack's mother and father's story. The teacher started telling you about Kenya's father and Barack replied, "Lolo" hearing the reply, the students of the class started laughing and used to enjoy Barack in the class in the name of lolo.


Barack used to complete his studies in such a conflict situation. In the festival held at Panhau School, all the students were open with Barack and Barack was very happy. She was not worried about anything because her studies were found in her mother's strangeness in Indonesia, she was very short-lived in the school, she found her grandfather's love very much and all good- Good running.

But one day his grandfather told him, "Barack tree papa (Obama shinier) is coming and your mother is coming along with step sister, hearing that Barack was pained Barack was two years old when his father left his mother Given and did not return to Harvard and did not return from there, and after two years, both of them divorced, Baruch did not know his father and did not even remember him. Barack's grandfather used to remember his father's every day, despite his mother being left out, but was proud of Obama's sincerity.

Barack Obama wrote his father's first meeting, that once a day I came home from the school and my father looked at me and he took me in my arms and took the lecture of his father, his teacher. The time seemed intimidating in his mind because the boys would know that this is my father, when I came to the class of Obama (senior), I did not recognize my identity as a student on Barack Obama's side. Saw not the same. His lecture was very impressive. He expressed love through his speech to Kenya who had love in his mind. The customs, traditions, poverty, etc. Let us know about

In some communities, without hunting a lion, the man does not understand that such practice is going on and new questions are being raised ahead of the country. But while doing the speeches, Barak did not show any respect, because of this Barak loved it.

Barack's father gave divorce to his mother. His childhood was heard without father. Her memoir came in her mind when giving a speech. Without her parents, she felt alone. Due to its black color, white people looked at me with eyes, it knew it.

While reading the school, he got a friend named Keith Tokugawa. She was also African-American. Both of them were black and hence the friendship of both of them was confirmed. On dancing floor they could not dance with a white girl.

Barack's mother and Indonesian step sister came to live in Maya Honolulu. Dada-Dada used to stay away from The practice of anthropology was accomplishing n. Barack's mother got divorced from Barack's second father in 1980.

After completing secondary education, he filed his application in Los Angeles Occidental College in 1979.

His friend, Vinay Thamalpally and Barak, both of his friends stayed together till the end of the year and had completed his studies that I would go to the village and do some work and Barak had a dream that I would work for the welfare of the exploited people. Barak went with Mohammed and Wahid in Pakistan for three installments.

Barack was thinking of going to New York but he did not have the money. But there was a plan of the Oxytendal College to send the student to the other college for increased growth, Barak went to know about this and applied it to the number and applied it to Barak Columbia College. Barack moved to New York in 1981.

In Columbia College, Barack completed his degree in political science in 1983.

Barak entered Harvard College in 1988, and in one year he played his dunk in college, knowing his quality and writing skills, he was made the editor of Harvard Law Review. Took over the post of editor for two years.

In 1990, Obama was elected to the position of Harvard Law Review president. America's law is considered auspicious in the teaching sector. None of the blacks in Harvard College received the honor of the President. And his discussion was started in America. Obama was very respected in all White Americans. Carnival in Chicago was celebrated with great enthusiasm and funeral
Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.