आरसीएम वितरक की आदते / RCM distributor's habits


Habit

इंसान की गतिविधयों को सबसे ज्यादा प्रभावित करती है उसकी आदतें। कई बार व कुछ और करने का  निश्चय करता है लेकिन वह कर नहीं पता है।  उसकी आदतें उससे वही सब कुछ करवाती रहती है जो की पहले से उसकी आदत में होता है। 


इंसान की जिंदगी के विकास के लिए सबसे ज्याद आवश्यकता होती है पुराणी गलत आदतों को छोड़ने की व नई अच्छी आदतों में प्रवेश करने की या आदतों में कुछ परिवर्तन करने की। यह बहुत आसानी से नहीं हो पता है और ज्यादातर लोग अपनी आदतों के आगे खुद ही हार मान लेते है।  

इस मनोविज्ञान को कुछ समझा जाये और इस पर कुछ प्रयोग किया जाए तो आदतों को बदलने का तरीका निकाला जा सकता है। यह सबकी अपनी-अपनी खोज है, लेकिन उदाहरण के द्वारा कुछ समझा जा सकता है। 



एक व्यक्ति प्रातः काल भ्रमण के लिए जाना चाहता था, पर बार-बार सोचने और निश्चय करने के बाद भी वह जा नहीं पता था यहाँ तक की उसके स्वास्थ के लिए डॉक्टर ने भी बहुत आवश्यक बताया था फिर भी उससे हो नहीं पा रहा था। एक दिन जाता फिर उसको आलस्य आ जाता था। प्रतिदिन यह सोच-सोच कर निकल देता था की कल से अवश्य जाऊंगा। बहुत कोशिश करने पर भी उससे नियमित नहीं हो पा रहा था। उसका एक दोस्त था यही समस्या उसके साथ भी था। उससे इस विषय पर बातचीत हुई तब उन्होंने निश्चित किया की हम लोग दो और दोस्तों से बातचीत करके चार, चार का एक ग्रुप बनाते है और चारों प्रतिदिन भ्रमन के लिए जायेंगे। चारों एक दूसरे को उठाएंगे और कोई किसी का बहाना नहीं सुनेंगे। चारों ने शुरू किया और कोई एक भी दिन छूट जाता तो वे उस पर इतना दबाव बनाते की धीरे-धीरे सबकी ऐसी आदत बन गई की सबका घूमना नियमित हो गया। 

हकीकत में आदतों को बदलने के लिए पक्की व्यवस्था की जाए तो किसी भी आदत को बदला जा सकता है। समु बनाना एक अच्छा उपाय है। परिवार की मदद भी ली जा सकती है। अपने हिसाब से कोई तरीका अपनाया जा सकता है। 

उदहारण के लिए अपनी टीम में क्कालिटी टीम बुक भरवानी है तो केवल कह देने मात्र से या समझा देने मात्र से यह काम हो जाएगा और सबकी आदत इसको भरने की बन जाएगी ऐसी संभावना बहुत कम रहती है। ऐसी उम्मीद रखनी भी नहीं चाहिए जिसको अपनी टीम में यह आदत लानी हो उसे इसकी पक्की व्यवस्था करनी चाहिए।



  • स्वंय यह बुक हमेशा अपने साथ रखे व हमेशा उसको सही तरिके से भरे। 
  • टीम में जो हमेशा साथ रखते है उसको सम्मानित किया जाए। 
  • जो सबसे अच्छे तरिके से भरते है उनको सम्मनित किया जाए। 
  • इस बुक के महत्व व भरने के तरिके के बारे में बार-बार चर्चा-चर्चा की जाए। 
  • छोटे-छोटे समूह बनाकर उनके इंचार्च बनाए जाये जो अपने-अपने समूह के इस कार्य को सुनिश्चित करे।
इसी प्रकार किसी भी आदत को लेन के लिए पर्याप्त व्यवस्था की जाये तो यह अच्छी तरह संभव हो सकता है। कोई भी काम मुश्किल नहीं होता बस सही प्लानिंग और तैयारी की बात है।

सही आदतों को अपनाना निहायत ही जरुरी है और उचित प्रयास किये जाए तो यह संभव भी है। जो इस तरिके को पकड़ लेगा वह बड़े से बड़ा काम करने में सफल हो सकता है। जो भी आदतें स्वयं में व टीम में बड़े स्तर पर लानी हो उनको नोट करें व एक-एक पर काम करना शुरू करें। एक साथ बहुत सारी बातों पर काम नहीं करें। एक पूरी हो जाए या अच्छी शुरुवात हो जाए तो दूसरी पर काम शुरू करें। प्राथमिकता अवश्य निर्धारित कर ले की क्रमानुसार किस-किस आदत पर काम करना है।

यह भी जरूर पढ़े 
 RCM Business की जानकारी अपने टीम में शेअर 
 करे और आर्थिक आझादी का अभियान सफल करे  
Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.