(क्रिकेटर)सचिन तेंदुलकर की जीवनी / (Cricketer) biography of Sachin Tendulkar

Cricketer Biography of sachin tendulkar

दसवीं कशा पास होने के बाद हमें कौनसी फैकल्टी में प्रवेश लेना चाहिए इसके लिए हम अपने बढेभाई-बहन   की सलाह लेते है क्यों की हमें उस पढ़ाई के माध्यम से हमें अपना करियर बनाना रहता है। कोई छात्र एक साल पढ़ने के बाद उसे उस फैकल्टी में कुछ नहीं समझा तो छोड़ देते है और अगले साल दूसरे फैकल्टी में अपना एडमिशन करवाते है और अपना करियर बनाते है। करियर बनाने के लिए सही समय पर सही मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। अगर हमे सही  समय पर सही मार्गदर्शन मिले तो हमें अपना करियर बनाने के लिए दुनिया की कोई ताकद नहीं रोक सकती।
इसे जरूर पढ़े - कपिल देव की जीवनी
दोस्तों इस लेख के मध्य से मै यही कहना चाहूंगा की हमें अपने बच्चों, अपने भाई-बहन का करियर बनाना है तो उन्हें सही समय पर सही मार्गदर्शन करना चाहिए , सही गाइडेंस देना चाहिए , अच्छे संस्कार देना चाहिए, अच्छे विचार देना चाहिए अगर हमने अपने बच्चों , भाई -बहन को kg 1 से समय पर उनका अभ्यास लिए तो एक दिन अपना और हमारा नाम पुरे विश्व में, राज्य में , जिले में, तहसील में , या अपने ही गांव में फेमस जरूर करेंगे ।


अपने व्यवसाय की पूंजी जिस क्षेत्र में है उस क्षेत्र के बारे में तज्ञं व्यक्ति से गाइडलाईन पूछना चाहिए। अपने दोस्तों से अपने से ज्यादा पढ़े लिखे भाई-बहन से सल्ला-मसलत करना चाहिए। मराठी, इंग्रजी पेपर की करियर पुरवणी पढ़ना चाहिए। करियर के संबंधी लायब्रेरी में जाकर बुक , पेपर पढ़ना चाहिए। करिअर के बारे में इंटरनेट से जानकारी लेना चाहिए। अपनी शैक्षणिक योग्यता , बौद्धिक क्षमता , आर्धिक क्षमता आदिका विचार करके हमें जिस क्षेत्र में रूचि है उस क्षेत्र में जाना चाहिए।

इसी तरह आपके जैसा ही एक लड़का था उसे भी किसी क्षेत्र में करियर बनाना था। उसे भी उसके बड़े भाई ने गाईड किया और अपनी मेहनत, लग्न से आज पुरे विश्व में All-Time चमकते रहता है। इसी तरह आप भी पुरे विश्व में चमकते रहिए, महकते रहिए। आपके उज्ज्वल भवितव्य की हार्दिक शुभकामनाएँ !

 सचिन तेंदुलकर सुरवात में लाल टेनिस खेला करते थे। उन्होंने जॉन मैकनेरो को अपना गुरु बना लिया था। सचिन को सुरवात में अच्छा गेंदबाज बनना चाहते थे। लेकिन सचिन एम आर एफ पेस फाउंडेशन के पास गए वहा पर सचिन को ऑस्ट्रेलिया की तेज गेंदबान डेनिस लिली ने गाइड किया की आप अपने बल्लेबाजी पर ध्यान दो इधर-उधर अपना मन मत भटकाओं इस तरह सचिन ने क्या करना चाहिए, उसका करिअर कहा बन सकता है  और उसकी रूचि कहा है, क्या कर सकता है यह उसके बड़े बाई अजित ने पहचान लिया और उसको 1984 में क्रिकेट में सफलता पाने के लिए रमाकांत अाचरेकर से मुंबई में मुलाखात करवाके दिया। आचरेकरजी ने सचिन का क्रिकेट के प्रति लगाव देख कर उन्हें दादर के शारदाश्रम विद्यामंदिर हास्कूल से स्कुल की पढ़ाई पूरी करने को कहा यह स्कुल सचिन के चाची के घर के पास था इसलिए सचिन अपने चाची के घर रहने लगा और स्कुल जाने लगा। सचिन ने शिवजी पार्क में क्रिकेट का अभ्यास चालू कर दिया था आचरेकरजी बिच के स्टंप पर एक सिक्का रखते थे। यह सिक्का उसीका होगा जो बॉलर सचिन को आउट करेगा।सचिन धीरे-धीरे शारदाश्रम विद्यामंदिर मंदिर में फेमस होने लगे। वहा पर विनोद कांबली सचिन के अच्छे दोस्त बन गए।
इसे जरूर पढ़े - (क्रिकेटर) मिताली राज की जीवनी
मास्टर ब्लास्टर के नाम से पहचाने जानेवाले सचिन तेंदुलकर ने अंतररास्ट्रीय मैचों में अच्छा प्रदर्शन करके विश्व का पहला बल्लेबाज बना है। सचिन तेंदुलकर ने रनों की बौछार की है। क्रिकेट के भगवान, सुपरस्टार सचिन तेंदुलकर ने सही समय पर , सच्ची लग्न और मेहनत अपना नाम देश के इतिहास में दर्ज किया है। सचिन ने कुछ एसे रेकॉर्ड बनाया है की जिसे कोई तोडना नामुमकिन है। सचिन तेंदुलकर को 11 साल की उम्र में  उसके बड़े भाई अजित ने क्रिकेट की कोचिंग लगा दिया।

सचिन तेंदुलकर का परिचय / Introduction to Sachin Tendulkar

नाम :- सचिन रमेश तेंदुलकर

जन्म :- 24 अप्रैल 1973 

जन्म स्थल :- मुंबई ( महाराष्ट्र )

पिताजी का नाम :- रमेश तेंदुलकर 

माताजी का नाम :- रजनी तेंदुलकर 

विवाह दिनांक :- 25 मई 1995 

पत्नी का नाम :- डॉ. अंजली तेंदुलकर (मेहता)  

लड़के का नाम :- अर्जुन 

लड़की का नाम :- सारा

कोच का नाम :- रमाकांत अचरेकर

सचिन तेंदुलकर का पारिवारिक जीवन / Sachin Tendulkar's family life 

सचिन तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 में मुंबई में हुआ है उनके पिताजी स्वर्गीय रमेशजी तेंदुलकर उपन्यासकार थे। उनकी माताजी बिमा एजेंट थी। सचिन के एक बड़ी बहन है जिसका नाम सविता है और अजित और नितिन दो बड़े भाई है। सचिन तेंदुलकर के माता-पिता ने सचिन का नाम संगीतकार सचिन देव बर्मन के नाम पर रखा है। सचिन का विवाह 25 मई 1995 में डॉ.अंजली मेहता के साथ हुआ है। सचिन तेंदुलकर  को  अर्जुन और सारा दो बच्चे है।

सचिन तेंदुलकर के फैन बहुत है। उनके फैन उन्हें मास्टर ब्लास्टर या लिटिल मास्टर नाम से बुलाते है। उनके ऊपर एक फिल्म बनी जिसका नाम '' सचिन-ए बिलियन ड्रीम्स '' है।

सचिन तेंदुलकर का क्रिकेट में आगमन / Sachin Tendulkar's arrival in cricket

सचिन तेंदुलकर के कोच रमाकांत अचरेकर  सचिन को स्कुल जानके के पहले और स्कुल से आने के बाद क्रिकेट की ट्रेनिक देते थे। 15 साल की उम्र में सन 1988 में स्कुल के क्रिकेट मैच में विनोद कांबली के साथ 664 रन बनाए थे तभी देखेवाले टीचरों को लगा की सचिन आनेवाले दिनों में अच्छा क्रिकेटर बनेगा और अपना नाम इतिहास में दर्ज करेगा। 

सचिन तेंदुलकर ने सन 1989-90 में पाकिस्तान के खिलाप कराची में खेलेगये टैस्ट मैच से अपने करियर की सुरुवात की। 16 वर्षीय सचिन ने यह मैच घबराते हुए खेला था। तभी सचिन को लग रहा था की मै आगे और मैच नहीं खेल सकता। अकरम और वकार की बॉलिंग पर सचिन ने 15 रन बनाए थे। दूसरे टैस्ट में सचिन ने 59 रन बनाया था। 

 05 सितंबर 2002 में 29 वर्ष 134 दिन की उम्र में सचिन ने 100 वा टैस्ट मैच इंग्लैंड के विरुद्ध ओवल में  खेला।  यह टैस्ट मैच खेलनेवाला सचिन सबसे कम उम्र का खिलाडी था। 

सचिन 2009 में आंतरराष्ट्रीय मैच में 30,000 से ज्यादा रन  बनानेवाला खिलाडी बन गया। सचिन ने 200 टैस्ट मैचों में 51 शतक, 68 अर्ध शतक और 15, 921 रन बनाए है। 463 वनडे मैच में 49 शतक, अर्ध शतक 96 के साथ 18,426 रन बनाए है। वनडे मैचों में एक दोहरा शतक है जो की विश्व रेकॉर्ड बन गया है।

• सावित्रीबाई फुले की जीवनी
• डॉ.कल्पना चावला की जीवनी 
• स्वामी विवेकानंद की जीवनी 

ब्रांड एम्बेसडर का सफर / Travel to the brand ambassador

सचिन बहुत बड़ी दिग्गज कंपनियों का ब्रांड एम्बेसडर रहा है। MRF टायर, पेप्सी , एडिडास, बीजा मास्टर कार्ड, फिएट पैलियो जैसे दिग्गज कम्पनियो का ब्रांड एम्बेसडर रहा है। बड़ी कम्पनिया सचिन को बुलाते है। सन 1995 में सचिन ने 70 लाख पचास  हजार डॉलर का वलर्ड टेल कम्पनी के साथ 05 साल के लिए डील किया। और सचिन तेंदुलकर विश्व का धनि खिलाडी बन गया।        



सचिन का टैस्ट मैच में प्रवेश और स्कोर / Sachin's Test Match and score

टैस्ट मैच प्रवेश - दिनांक 15 नवंबर 1989 कराची में पाकिस्तान से खेला गया टैस्ट मैच 

खेले गए टैस्ट मैच - 200 

टैस्ट मैच बल्लेबाजी का औसत - 53.79 

टैस्ट मैच में खेले गए बॉल - 4240 

टैस्ट मैच के रन - 15,921 

टैस्ट मैच के शतक - 51 

टैस्ट मैच के अर्ध शतक - 68 

टैस्ट मैच में लिए गए विकेट - 46 

टैस्ट मैच में लिए गए कैच - 115 



सचिन का टैस्ट मैच से सन्यास / Sachin's retirement from Test match 

टैस्ट मैच से सन्यास - 14 नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज के विरुद्ध  



सचिन का वन डे मैच में प्रवेश और स्कोर 

वन डे मैच में प्रवेश - 18 दिसंबर 1989 पाकिस्तान के विरुद्ध 

खेले गए वैन डे मैच - 463

वन डे बल्लेबाजी मैच का औसत - 44.83

वन डे में खेले गए बॉल - 8054

वन डे मैच के रन - 18426

वन डे मैच के शतक - 49

वन डे मैच के अर्धशतक - 96

वन डे मैच में लिए गए विकेट - 154

वन डे मैच में लिए गए कैच - 135



वन डे मैच से सन्यास - 18 मार्च 2012 में पाकिस्तान के विरुद्ध खेला 


सचिन तेंदुलकर रेकॉर्ड जानकारी /  Sachin Tendulkar record information

1.सचिन पहले टैस्ट मैच में 15 रन घबराते-घबराते निकाला था।

2 . वन डे मैच में शून्य पर आउट।

3 . कम उम्र के खिलाडी है -16 साल की उम्र में वनडे और टैस्ट खेले।

4 . सन 2003 में '' स्टम्पड '' बॉलीहुड फिल्म में किरदार निभाया।

5 . पहले भारतीय खिलाडी लंदन में  मैडम तुसाद में मोम की मूर्ति स्थापित है।

6 . सबसे ज्यादा विश्व कप खेलनेवाले क्रिकेटर।

7. प्रथम खिलाडी- 100 शतक.

8. प्रथम खिलाडी- टैस्ट में 10,000 रन।

9.प्रथम खिलाती- सन1998 में एक ही साल में वनडे मैच में 1,894 रन बनाए।

10. प्रथम खिलाडी- सन 1998 में एक ही साल में वनडे मैच में 09 शतक बनाए।

11. प्रथम खिलाडी - वनडे में दो शतक बनाने वाले क्रिकेटर


पुरस्कार / Award 

➤1998 ''राजीव गाँधी खेलरत्न'' से सन्मानित किया गया।

➤1999 '' पद्मश्री '' सन्मानित किया गया।

➤2008 '' पद्यविभूषण '' से सन्मानित किया गया।

➤2014 भारतरत्न से सन्मानित किया गया। भारत के प्रथम खिलाड़ी है।
   
यह भी जरुर पढ़े  



Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.