धनिया के बीज लेने के फायदे और नुकसान / Benefits and disadvantages of consuming coriander seeds

Benefits and disadvantages of consuing coriander seeds

धनिया शरीर को ऊर्जा प्रदान करने वाली दवा है और हमरे स्वास्थ के लिए बहुत फायदे मंद है।धनिया में एक ए Essential Oil की मात्रा रहती है और इस Essential oil  से Liver के अनावश्य पदार्थ को बाहर निकालता है और भूख की मात्रा बढ़ाता है।धनिया एंटी-डायबिटिक है क्यों की धनिया के बीज खून के ग्लूकोज के प्रामण को कम करता है। धनिया में Iron,  Phytonutrient और Flavonoid तत्व का प्रमाण रहता है और इस तत्व में  Antioxidant पाया जाता है इस के कारण हार्ड अटैक, मधुमेह और कैंसर जैसे बड़ी बीमारी से हमारा बचाव करता है और ख़राब कोलेस्ट्रॉल के प्रमाण को कम करता है। धनिया में विटामिन ए की मात्रा रहती और विटामिन ए की याने की फैट घुलनशील विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट का प्रमाण होता है और इसके कारण हमारी त्वचा, दॄष्टि को स्वस्थ रखते है।

धनिया के फायदे / benefits of coriander


◼️ धनिया का उपयोग स्वादिष्ट सब्जी बनाने के लिए किया जाता है।

◼️ सब्जी मशालों में सूका धनिया रहता है। हरा धनिया सब्जी में डालने के लिए बहुत ही उपयोगी है।

◼️ धनिया त्वचा रोग,खुजली, मुँहासे, चकत्ते, सूजन आदि के लिए धनिया का बीज को उबाले और ठंडा होने के बाद पानी से मुँह धो ले।

◼️ धनिया के बीज का चूर्ण, एक चमच हल्दी, एक चमच शहद, मुल्तानी मिट्टी इनका लेप तैयार कीजिये और चेहरे पर लगाईए आपके चेहरे के  पिम्पल्स और तैलीय त्वचा से आराम मिलता है।

◼️ बाल झड़ने की समस्या से छुटकारा पाना चाहते हो तो आप को अपने हेअर ऑइल में धनिया के बीज का चूर्ण मिलाकर लगाना जरुरी है। बाल झड़ने की समस्या दूर हो जाएगी।

◼️ धनिया पाचनक्रिया साफ रखने में राहत दिलाता है, इसके लिए हमें आधा ग्लास पानी , जीरा, धनिया के पत्ते, चाय पत्ती, शक़्कर, सौंफ और अदरक डालकर उबाले और ठंडा होने पर सेवन करे।

◼️ आँखों की जलन और हाथ-पैरों में जलन की समस्या से राहत मिलती है, धनिया का बीज , सौंफ और मिश्री का चूर्ण करे और खाना खाने के बाद 5 ग्राम चूर्ण का सेवन करे।



◼️ धनिया में vitamin C बहुत ही महत्वपूर्ण लाभदायक एंटीऑक्सीडेंट है जिसके कारण त्वचा और शरीर स्वस्थ रखता है। धनिया में बहुत लाभकारी विटामिन रहते है जैसे की, फोलिक एसिड, विटामिन ए, बिटा-कैरोटीन आदि।

◼️ धनिया के बीज से डायबिटीज(मधुमेह), कोलेस्ट्रॉल की समस्या, आदि विकारों के लिए आपको शाम के समय में एक ग्लास पानी में आधा कप धनिया का बीज डालना है और उसे सुबह उठकर धनिया पानी का सेवन करना चाहिए। धनिया पानी पिने से खून के ग्लूकोज के प्रमाण को कम करता है और स्वस्थ रक्त शर्करा के प्रमाण को कम करने में राहत मिलती है, इसके कारण ख़राब केलेस्ट्रॉल का प्रमाण कम होता है और अच्छे केलेस्ट्रॉल का प्रमाण बढ़ता है। डायबिडीज और उच्च केलेस्ट्रॉल जैसे विकारों से बचने के लिए धनिया पानी का सेवन करना सेहद के लिए बहुत ही लाभकारी है।

◼️ धनिया का सेवन खाना खाते समय सलाद जैसे खाए तो, किसी भी प्रकार के बैक्टेरिया के संक्रमण से बचा जा सकता है। धनिया के बीज में डोडेक्नेनल Dodeknenl की उच्च प्रति की मात्रा रहती है, इसलिय बैक्टेरिया को दूर करता है।

◼️ धनिया के बीज में एनीमिया को रोकने के लिए लौह की मात्रा रहती है।

◼️ यदि आप पीरियड्स की समस्या से परेशान हो तो अपने भोजन में धनिया बीज का उपयोग करते जाना चाहिए। आधा लीटर पानी में 500 ग्राम धनिया बीज उबाले, उसके बाद थोड़ी देर में  छोटे दो चमच शक़्कर डाले कड़ा तैयार होने के बाद कोहमट गरम काढ़ा को दिन में दो बार सेवन करे। धनिया के बीज में कुदरती उत्तेजक शक्ति रहती है इस शक्ति के कारण हार्मोन संतुलित रहते है जिसके कारण पीरियड्स के समय दर्द और ज्यादा रक्तस्त्राव को कम करता है।

◼️  आप कंजंक्टिवाइटिस Conjunctivitis ( आँख आना ) , आँखो में जलन होना, सूजन, खुजली आदि विकारों के लिए धनिया बीज का काढ़ा बनाए काढ़ा ठंडा होने पर काढ़े से  दिन में 7 बार आँख-मुँह धो ले। धनिया बीज में  में हाय एंडीऑक्सीटें रहने के कारण हमारे आँखों की समया दूर होती है।


धनिया बीज खाने के नुकसान / Coriander Seed Eating Disadvantages

◼️  धनिया बीज का ज्यादा सेवन करने से लिवर की समस्या निर्माण हो सकती है।

◼️ चक्कर आना , सास लेने में तकलीफ होना, आदि समस्या से परेशान है तो धनिया बीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरुरी है।

◼️ गर्भवती, स्तनपान करनेवाली महिलाओं ने कम मात्रा में धनिया के बीज का सेवन करना चाहिए। धनिया के बीज का असर ग्रंथि स्त्राव पर होता है इस के कारण माता, बालक और प्रजनन ग्रंथि पर असर हो सकता है। धनिया बीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलहा अवश्य ले।

◼️ धनिया का बीज का उपयोग सूरज के किरणों के प्रति संवेदनशीलता का कारन बन सकता है। क्यों की त्वचा कैंसर और सनबर्न जैसे विकारों की समया निर्माण हो सकती है। आप सूरज की किरणों से एलर्जी  या संवेदनशीलता से परेशान हो तो धनिया के बीज का सेवन कम करे और सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

◼️ आखों में जलन, सूजन, खुजली आदि विकारो से परेशान हो तो धनिया बीज का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले।
यह भी जरूर पढ़े 

Sr.No 
Health Tips Articles
S.N 
 Article Name 
 2
 2 
  3
 4
 5
 
 
 
 7
 
 8   
 9
 9 
 10 
 10 
 11
 11 
 12
 12 
 13 
 13 
 14 
 15 
 16 
 17 
 18 
 19 
जीरा खाने के लाभ
 19 
 20 
न्यूट्रीचार्ज स्ट्रॉबेरी प्रोडॉइट
Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.