लोकमान्य तिलक गौरव गाथा | Lokmanya Tilak Gaurav Gatha


lokmanya tilak gaurav gatha

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना | ( Indian National Union ) 

◾भारतीय राष्ट्रिय संघटना का अधिवेशन पुणे में होनेवाला था, लेकिन प्लेग की साथ होने के कारण मुंबई में हुआ और भारतीय राष्ट्रीय संघटना की स्थापना  इ.स.1884 को हुई।
◾28 दिसंबर 1885 को एलन ह्यूम ने राष्ट्रिय सभा मुंबई में स्थापन किया।
◾राष्ट्रिय सभा का प्रथम अधिवेशन मुंबई में गोकुलदास तेजपाल संस्कृत पाठशाला में हुआ।
अध्यक्ष - व्योमेशचंद्र बनर्जी
◾प्रथम राष्ट्रिय अधिवेशन में भारतीय राष्ट्रिय संघटना का (Indian National Union),भारतीय राष्ट्रिय सभा
(Indian Natioal Congress) नामकरण किया गया।
• राजर्षि शाहू महाराज विजय गाथा
▪️ संत गाडगेबाबा की जीवनी  
▪️ दादाभाई नौरोजी की जीवनी

राष्ट्रिय सभा के तीन समूह | Three periods of the National Assembly

◾मवाल समूह - इ.सा. 1885-1905
◾जहाल समूह (तिलक युग)-इ.सा.1905-1920
◾सत्याग्रह समूह (गाँधी युग)- इ.सा.1920-1947

मवाल समूह  | Mavāḷa Group  -1885-1905

◾राष्ट्रिय सभा की स्थापना से बंगाल बटवारा मवाल कालखंड के नाम से जानते है। 
◾ मवाल नेते - दादाभाई नौरोजी, सुरेन्द्रनाथ बनर्जी, बदरुद्दीन तय्यबजी, गोपालकृष्ण गोखले, फिरोजशाह मेहता, न्यायमूर्ति रानडे, न्यायमूर्ति तेलंग आदि। 
कार्य | work 
◾राजकीय मुद्दों पर चर्चा।
◾ सरकारी दफ्तर में अर्ज, निवेदन,विनंती आदि के माध्यम से अपने मुद्दे रखना।
◾ देश की आर्थिक गरीबी, जनता के आगे स्पष्ट किये।
◾अख़बार और लेख के माध्यम से जनजागृति किये।
◾ 1892, का कानून पास हुआ।
जहाल समूह | Jahāla Group - (तिलक युग)-इ.सा.1905-1920   
सन. 1905 से तिलक युग की सुरवात हुई। 
जहाल नेते - लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक,बिपिनचंद्र पल, लाला लाजपतराय, अरविन्द घोष,अश्विनकुमार पाल आदि 
कार्य | work  
◾वंगभंग आंदोलन ( बंगाल बटवारा )
◾स्वदेशी प्रचार और प्रसार 


लोकमान्य तिलक जीवन चरित्र | Lokmanya Tilak biography
◾जन्म - 23 जुलाई 1856
◾जन्मगाव - चखली, जिला -  रत्नागिरी
◾मृत्यु - 01 अगस्त 1920, मुंबई
प्रारंभिक दौर | praarambhik daur
◾क्रांतिकारक बासुदेव बलवंत फड़के के विचारों का प्रभाव
◾आत्मिक शक्ति के द्वारा ज्ञानार्जन एंव राष्ट्र भक्ति की जाग्रति
◾खुद का जीवन राष्ट्र कार्य के लिए अर्पण।
शैक्षणिक कार्य | Academic work
पुणे शहर , ' विद्या का माहेर घर '
सन-1880- ' न्यू इंग्लिश स्कुल ' की स्थापना '
सन -1884 - ' डेक्कन एज्युकेशन सोसायटी ' की स्थापना।
◾सन - 1885 - ' फ़र्ग्यूशन कॉलेज ' की स्थापना। 
राजनैतिक जीवन | Political life
◾सन - 1885 सार्वजनिक सभा पर वर्चस्व प्राप्त।
◾सन - 1916 लखनौ करार
◾सन - 1919 भारतमंत्री मांटेग्यू ऑगस्ट क्रांति
◾सन -1920 कांग्रेस डेमोक्रटिक पक्ष की स्थापना।
कारावास | Imprisonment
◾1895 -बर्वे प्रकरण 101 दिन गो.ग. आगरकर के साथ शिक्षा।
◾1897 -प्लेग कमिश्नर रैण्ड के हत्या का समर्थन करने के कारण राजद्रोह के आरोप में शिक्षा।
◾ 1908- कलकत्ता के बॉम्ब स्फोट संबंध में लेख लिखने के कारण राजद्रोह के आरोप में 6 साल की काले पानी की शिक्षा मंडाले जैल में हुई। (1914 को शिक्षा पूरी हुई )
▪️ महात्मा फुले की जीवनी 
▪️ शिवाजी महाराज की जीवनी 
▪️ संत ज्ञानेश्वर की जीवनी


लोक निर्माण | Public work
1881 - ' केसरी ' (मराठी ), ' मराठा ' (इंग्रजी) वृत्तपत्र चालू हुए।  
1893 - सार्वजनिक गणेश उत्सव  
1895 - शिवजयंती उत्सव 
लेखन कार्य | Writing work
मंडाले के जैल में ' गीतारहस्य ' ग्रन्थ लिखा। 
◾'आर्टिक होम इन वेदाज ' ओरायन आदि। 
चतुःसूत्री Catuḥsūtrī
बहिष्कार 
स्वदेशी 
राष्ट्रिय शिक्षण 
समता 
केसरी के प्रसिद्ध लेख | Kesari's famous articles
◾सरकारचे डोके ठिकानावर आहे के ?
◾ राज्य करने म्हणजे सूड उगवणे नव्हे 
◾ हे आमचे गुरुच नव्हते 
◾राणीचा जयजयकार असो
◾पुनःश्च हरी ॐ    
टिलक के निकले हुए शब्द Were the words of Tilk
'' स्वराज्य मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है, और मैं उसे हासिल करके रहूँगा।''
यह भी जरूर पढ़े 


• डॉ.सी.व्ही रामन की जीवनी  
• मदर तेरेसा की जीवनी
• डॉ. शुभ्रमण्यम चंद्रशेखर की जीवनी 
• डॉ.हरगोनिंद खुराना की जीवनी 
• डॉ.अमर्त्य सेन की जीवनी 
• डॉ.व्ही.एस.नायपॉल की जीवनी 
• डॉ.राजेंद्र कुमार पचौरी की जीवनी
• डॉ.व्यंकटरमन रामकृष्णन की जीवनी
 मदर टेरेसा की जीवनी



Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.