Good Dot information | गुड़ डॉट जानकारी


दोस्तों नमस्ते आपका pravingyan.com में स्वागत है। मेरा नाम टिकाराम मैं pravingyan.com के लिए लेख लिखता हु और आज मैं  आपको इस लेख के द्वारा good dot हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना लाभकारी है इसके बारे में जानकारी देने जा रहे है। 

न्यूट्रीचार्ज केसर पिस्ता प्रोडाइट की जानकारी 
 RCM पेन गो बाम
• RCM डिस्ट्रीब्यूटर का कार्य करने का तरीका 
• समय / TIME



Good Dot information | जानकारी

 RCM डिस्ट्रीब्यूटर की आदतें
• अपना व्यक्तित्व बोलना चाहिए ?
• RCM डिस्ट्रीब्यूटर का स्वभाव कैसा होना चाहिए ?
Good Dot ने लोगों की भोजन संबंधित आदतों को ध्यान में रखते हुए दो तरह के प्रॉडक्ट विकसित किये है। एक प्रॉडक्ट जिसका नाम "vegetarian food" है। यह विशेषतौर से उन लोगों के लिए विकसित किया गया है जिनको मासाहार की आदत है या जो मासाहार को पसंद करते है। यह प्रॉडक्ट इस तरह से विकसित किया गया है जो दिकने में व स्वाद में पूरी तरह से मिट के जैसे लगता है व प्रोटीन भी इसमें प्रचुर मात्रा में है।

यह खाने में पूर्ण रूप  से मासाहार के समान संतुष्टि देता है। इस प्रकार यह प्रॉडक्ट इस तरह के लोगों के लिए बेहतरीन समाधन है।

दूसरा प्रॉडक्ट जिसका नाम प्रोटीज है। यह सभी लोगों के लिए विकसित किया गया है। इस प्रॉडक्ट में भी प्रोटीन भरपूर मात्रा में है व इससे कई प्रकार के व्यंजन बनाये जा सकते है।

• सफलता का रहस्य 
 दॄष्टि/vision 
 क्या ?क्यू ?कैसे ? / What ?, Q ?, How?


गुड़ डॉट वेजिटेरियन भोजन | Good dot "vegetarian food"

स्वास्थ्य के लिए उत्तम, प्रोटीन से भरपूर, स्वाद में लाजवाब और यह देता है आपके पुरे मिट की संतुष्टि लेकिन पकाना बहुत ही आसान है, गुड़ डॉट यह प्री कुक्ड वेजिटेरियन मिट प्रॉडक्ट आपके लिए लेकर आया है अब पकने के लिए न घंटो समय की आवश्यकता है, न उतना ईंधन खर्च करना है, न हर बार बाजार जाना है खरीदने के लिए। गुड डॉट के 250 ग्राम के पैकेट जितने चाहो घर पर रख सकते हो। जब जी चाहा तभी आप स्वादिष्ट व्यंजन बना सकते हो।

औद्योगिक पशुपालन की स्थितियों से विपरीत गुड़ डॉट उत्पाद का तकनीक से एक्ट विसंक्रमित वातावरण में निर्मित किया जाता है तथा अत्याधुनिक पैकिंग तकनीक का उपयोग किया जाता है। हमारे उत्पाद हर स्तर पर कठिन गुणवत्ता जाँच से गुजरते है। गुड़ डॉट उत्पाद उचतम सुरक्षा मानकों को पूरा करते है। इसकी स्पेशल रिटोरट पैकिंग की जाती है ताकि इसको आप सामान्य तापमान में काफी दिनों तक रख सकते है (टिप:- समयावधि जरूर देखे )

एक बार पैकेट खोलने के पश्चात फ्रिज में रखे। यह प्री - कुक्ड है इसलिए पानी में उबालने की या प्रेशर कुकर  में उबालनेकी कोई आवश्यकता नहीं है। इसका कोई भी व्यंजन बनाते समय ध्यान रखे की इसमें ज्यादा पानी न डाले यानि बहुत पतली ग्रेवी न बनावे व इसके बहुत ज्यादा टुकड़े न करें। चाकू का इस्तेमाल न करे यदि थोड़ा छोटा करना हो तो हाथों से मेश करें। इसके कई व्यंजन बनाये जा सकते है।

◼️ RCM Good Dot की जानकारी
◼️ RCM Business में डायमंड कैसे बने ?



वेजिटेरियन भोजन के पोषकतत्व की जानकारी | Nutrient information of "vegetarian food"

क्या आप जानते है की 100 ग्राम मटन में 21 ग्राम फेट (वसा) और 97 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल होता है ? वास्तविक मास को जब शाकाहारी मास से प्रतिस्थापित करने पर आपके वसा के उपभोग में 33 प्रतिशत की कमी आती है तथा यह पूर्णतया कोलेस्ट्रॉल से मुक्त है। 

 Nutritional  Information                    Per 100g 

Energy ( K cal )                                        224
Protein                                                       21.8
Carbohydrates (g)                                     2.7
Fat (g)                                                          14
Trans Fatty Acid (g)                                   0
Polyunsaturated Fat (g)                           1.8
Mono Unsaturated Fatty Acid (g)           3.9
Cholesterol (mg)                                          0
Calcium (mg)                                             649
Dietary Fiber (g)                                         2.85
Sodium (mg)                                                419
Potassium (mg)                                            270
Iron (mg)                                                      11.9

पानी, सोया आटा, सोया प्रोटीन आइसोलेट, गेहू का ग्लूटन ( लासा ), मटर प्रोटीन, गेहू का आटा, बेसन, क्विनोआ आटा, कॉर्न स्टार्च चिया बीज पाउडर, अलसी पाउडर, मेथी पाउडर, नमक, स्टेबलाइजर, वनस्पति तेल (सोया), परमिटेड फ़ूड कलर्स आदि सामग्री से वेजिटेरिन मिट तैयार हुआ है। 


प्रोटीज | Proteiz 

शाकाहारी लोगों के भोजन में प्रोटीन की आपूर्ति पूरी नहीं हो पाती इसको मध्यनजर रखते हुए यह प्रॉडक्ट गुड़ डॉट लेकर आया है जो पकने में बहुत ही आसान है। इसको पकाने के लिए 100 ग्राम प्रोटीज को 1 लीटर पानी में 6-7 मिनट तक उबालें। सावधानीपूर्वक पानी को प्रोटीज से अलग कर लें, प्रोटीज को ठण्डा होने दे व बचा हुआ पानी निचोड़ कर निकाल दे। अब यह पकाने के लिए तैयार है। ध्यान रहे यह भीगकर फूल जाती है व मात्रा बढ़ जाती है। इसके हाथों से छोटे -छोटे टुकड़े करके व मनचाहे व्यंजन  बनावें। इसके कई व्यंजन बनाये जा सकते है। 


प्रोटीज के पोषणत्व की जानकारी | Nutritional information of  Proteiz 
 Nutritional Information                                                            Per 100gm

Energy (K cal)                                                                                 348
Protein (g)                                                                                          52
Carbohydrates (g)                                                                             31
Fat (g)                                                                                                   1
Trans Fatty Acid (g)                                                                            0
Polyunsaturated Fat (g)                                                                    0.7
Mono Unsaturated Fatty Acid (g)                                                    0.3 
Cholesterol (mg)                                                                                    0
Calcium  (mg)                                                                                        0
Dietary Fibers (g)                                                                               2.7
Sodium (mg)                                                                                        689
Potassium (mg)                                                                                   2479
Iron (mg)                                                                                                  19
Sugar (g)                                                                                                  7.9  

सोया आटा, सोया प्रोटीन आइसोलेट, मटर प्रोटीन, बेसन, ओट आटा, कॉर्न स्टार्च, वनस्पति तेल (सोया), बेकिंग पाउडर, नमक एव मसाले, परमिटेड फ़ूड कलर आदि से proteiz बना है। 

◼️ RCM Business में सफल होने के सूत्र 
◼️ आर्थिक आझादी का अभियान

Good Dot स्वास्थ्यवर्धक 

पशु भक्षण और पर्यावरण विनाश के अपरिहार्य परिणामों का सामना हमें करना ही पड़ेगा। कैंसर ह्रदयरोग, हदयाघात, एव मधुमेह जैसे घटक रोगों की संभावना मांसाहारियों में अधिक होती है। इनमें ह्रदय रोग एव मधुमेह की सम्भावना शाकाहारियों की तुलना में लगभग दोगुनी होती है।

व्यवसायिक पशुपालन केंद्रों में पशुओं को दवाओं के माध्यम से न केवल जीवित रखा जाता है। बल्कि अप्राकृतिक तरिके से उनका वजन बढ़ाया जाता है। इन सबका परिणाम हमारे भोजन पर आता है।

पशुपालन उद्योग के कारण न केवल स्वास्थ्य संबंधित चिंताए बढ़ी है, अपितु कई भयंकर बीमारियों का जन्म हुआ है जैसे की, बर्ड फ्लू, मेड काउ, पॉव और मुँह संबंधित बीमारियाँ अभी तो बहुत कम बीमारियों का मानव जीवन पर प्रभाव सामने आया है।

"vegetarian food" शुद्ध अनाज से विसंक्रमित स्थितियों में उप्तादित किये जाते है। इन उत्पादों को अपनाकर आप इन भयंकर बिमारियों से स्वयं को बचा सकते है

◼️ RCM न्यूट्रीचार्ज DHA
◼️ RCM न्यूट्रीचार्ज कीट्स (बच्चों के लिए )


पशुओं के लिये हितकारी | Good for animals 

भारत में हजारो वर्षो से प्रकृति के साथ इंसान और जानवर समरसता पूर्ण रहते आये है। भारत भर्मण करने पर जगह-जगह पशुओं के झुण्ड चारागाहों में विचरण करते हुए दिखाई देते है। ज्यादातर लोगों का मानना है की हमारा मास इन्ही पशुओं के माध्यम से आता है, परन्तु यह वास्तविकता से कोसों दूर है। गावों से पशुपालन समाप्ति की कगार पर है।

पशुपालन उद्योग में जीवों के साथ मशीनवत व्यवहार किया जाता है। ज्यादातर लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है।

औद्योगिक पशुपालन में पशुओं के साथ किया जाने वाला व्यवहार अकल्पनीय है। पशुओं के नवजात बच्चों को उनकी माँ से हमेशा-हमेशा के लिए छीन लिया जाता है।

पशुओं को हमेशा बिना खिड़की वाले भवनों या कैदखानों में बंद रखा जाता है। वे पशु अपने चेहरे पर न तो सूर्य की रौशनी को महसूस कर पाते है और न ही कभी अपने पैरों तले घास को

भारत में प्रतिवर्ष 300 करोड़ से अधिक पशुओं को कत्तलखाने में लेजाकर काट दिया ज्यादा है। विश्व स्तर पर यह संख्या 7000 करोड़ प्रतिवर्ष है।

मास उप्तादन पशुओं के लिए तो दु:स्वप्न के समान है ही परन्तु यह पृथ्वी के लिए भी विनाशकारी है।

➤ पुरे विश्व में 7000 करोड़ जानवरों का क़त्ल किया जाता है।
➤ भारत में प्रतिवर्ष 300 करोड़ मर्गियों का वध किया जाता है।
➤ भारत में प्रतिवर्ष 8 करोड़ बकरों का वध किया जाता है।

◼️RCM न्यूट्रीचार्ज DHA
◼️बेहतरीन जिंदगी का नाम है- RCM 



पर्यावरण के लिए फायदेमंद | Beneficial to the environment

➤ वातावरण में परिवर्तन के लिए औद्योगिक पशुपालन सर्वांधिक जिम्मेदार है। संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार औद्योगिक पशुपालन द्वारा उत्सर्जित कार्बन डाय ऑक्साइड तमाम हवाईजहाज, ट्रेन एंव स्वचलित वाहनों द्वारा उतसर्जित CO2 ( कार्बन डाई ऑक्साइड ) से ज्यादा है।

➤ पशुपालन हेतु दाना-पानी एव अन्य स्त्रोत के रूप में किया जाने वाला निवेश उसके उत्पाद की तुलना में बहुत अधिक है। अतःकहा जा सकता है की पशु एक कार्यकुशल मशीन नहीं है।

➤ हमारी प्लेट में आने वाले 1 कैलोरी चिकन के लिए लगभग 9 कैलोरी अनाज (दाना) मुर्गी को खिलाना पड़ता है।

➤  जहाँ एक कोलोग्राम अनाज के उत्पादन पर 1400 लीटर पानी खर्च होता है

➤ वही 1 किलोग्राम मटन के उप्तादन पर 10,000 लीटर,

➤ 1 किलोग्राम सूअर के मांस (पोर्क) के उत्पादन पर 5000 लीटर,

➤ 1 किलोग्राम चिकन उत्पादन में 4000 लीटर पानी का उपयोग होता है।

प्रति कैलोरी चिकन के उत्पादन में अनाज की तुलना में 25 गुना अधिक कार्बनडाई ऑक्साइड उत्सर्जित होती है।


लाभ | Benefits

यह कम समय में पक जाता है, इसलिए ईंधन की बचत होती है।

➤ इसमें पशु मांस की तुलना में कम वसा है यह कोलेस्ट्रॉल रहित है, इसलिए ह्रदय के लिए उपयुक्त है।

➤ मासाहारी भोजन को उसी दिन उपयोग में लिया जा सकता है, जबकि गुड़ डॉट को ज्यादा समय तक रखा जा सकता है।

➤ मासाहारी भोजन पकने में अधिक समय लेता है। गुड़ डॉट "vegetarian food" बनाने में सरल व कम समय में पक जाता है।


दोस्तों आपको स्वादिष्ट व्यंजन बनाने  के लिए निचे रेसिपीज पर क्लिक करे और जरूर पढ़े। 

◼️ वेज मिट खट्टा मसाला कैसे बनाये ?
◼️ क्रिस्पी होट एंड स्पाइसी वेज मिट कैसे बनाये ?
◼️ वेज मिट मसाला कैसे बनाये ?
◼️ वेज मीट हरे मटर के साथ कैसे बनाये ?
◼️वेज मिट मलाई टिक्का 
◼️वेज मिट हरियाली टिक्का कैसे बनाये ?
◼️ वेज मिट सागवाला कैसे बनाये ?
◼️ वेज मिट क्विक सब्जी कैसे बनाये ?
◼️ वेज मिट टिक्का कैसे बनाये ?
◼️ वेज मिट साऊथ इंडियन स्टाईल कैसे बनाये ?
◼️ वेज मिट करि कैसे बनाये ?
◼️ प्रोटीज भुर्जी कैसे बनाये ?
◼️ प्रोटीज करि कैसे बनाये ?
◼️ प्रोटीज आलू के साथ कैसे बनाये ?
◼️ प्रोटीज पुलाव कैसे बनाये ?
◼️ वेज मिट बिरयानी कैसे बनाये ?
◼️ प्रोटीज चाइनीज स्टाईल कैसे बनाये ?
◼️ वेज मिट अचारी टिक्का कैसे बनाये ?
◼️ प्रोटीज पकोड़ा कैसे बनाये ?

अधिक जानकारी के लिए आप निचे दिए गए मोबाईल नंबर पर कॉल करके पूछ सकते है ...... 





यह भी जरूर पढ़े 
 RCM Business की जानकारी अपने टीम में शेअर 
 करे और आर्थिक आझादी का अभियान सफल करे  

Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.