न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 के बारे में जानकारी | Information about nutricharge DHA 200


दोस्तों नमस्ते, मेरा नाम संतोष मैं न्यूट्रीचार्ज कौंसलर हु और मैं RCM Business करता हु। RCM के उत्पाद के बारे में जानकारी देते रहता हु। आज मैं आपको '' न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 '' की जानकारी बताने जा रहा हु। न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 क्या है ? (What is the nutriarch DHA 200 ?) न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 कैसे काम करता है ? न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 क्यों लेना चाहिए ? (Nutricharge DHA 200 works ?) न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 के क्या फायदे है ? (What are the benefits of nutricharge DHA 200 ?) न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 महत्वपूर्ण क्यों है ? Why is nutricharge  DHA 200 important ? आदि के बारे में पूरी जानकारी आपको मिलनेवाली है।

न्यूट्रीचार्ज वेज ओमेगा की जानकारी
न्यूट्रीचार्ज डीएचए ट्विस्ट की जानकारी 



न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 के बारे में जानकारी | Information about nutricharge DHA 200

न्यूट्रीचार्ज डीएचए बच्चों के मष्तिष्क के विकास के लिए बहुत ही फायदेमंद है। दोस्तों आप सोचते होंगे की '' न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 '' ऎसा नाम क्यों दिया है ? क्यों की न्यूट्रीचार्ज डीएचए के एक कैप्सूल में 200 मिलीग्राम डीएचए रहता है। इसलिए इसे '' न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 '' कहा जाता है। 

गुड़ डोट की जानकारी
हेल्थ गार्ड राइस ब्रॉन ऑइल की जानकारी 

न्यूट्रीचार्ज डीएचए का स्त्रोत क्या है | What is the source of nutricharge DHA

गर्भअवस्था में माँ को मिलनेवाला डीएचए शाकाहारी होना चाहिए। डीएचए समुद्री पौधों से बनाया जाता है। न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 कैप्सूल शुद्ध शाकाहारी है। शाकाहारी शेल में लिक्विट डीएचए से ही बनता है यह डीएचए 100 % शुद्ध शाकाहारी रहता है। भारत में पहली बार अमेरिकी टेक्नॉलोजी का उपयोग करके कैरागीनन से 100 % न्यूट्रीचार्ज डीएचए बना है। न्यूट्रीचार्ज डीएचए कैप्सूल का कव्हर जिलेटिन के बिना बना है याने की शुद्ध शाकाहारी। न्यूट्रीचार्ज डीएचए ट्विस्ट और न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 सॉफ्ट कैप्सूल दोनों ही शुद्ध शाकाहारी है। 
     

न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 क्या है ? | What is the nutricharge DHA 200 

भारत में पहली बार RCM ने '' न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 '' लॉन्च किया। न्यूट्रीचार्ज डीएचए ओमेगा-3 तत्व से न्यूट्रीचार्ज डीएचए सॉफ्ट कप्सूल बनाई गई है। यह पोषणतत्व गर्भ में पल रहे बच्चें के '' ब्रेन ऑर्गन डेवलपमेंट '' के लिए बहुत ही जरुरी है। गर्भवती और स्तनपान करानेवाले महिलाओं ने अपने बच्चें के मष्तिष्क का विकास कराने के लिए प्रतिदिन 400 मिलीग्राम का सेवन करना चाहिए। हमारे भारतीय खानपान में ओमेगा-3 की कमी रहती है इस कारण माताओं से अपने बच्चें को डीएचए नहीं मिल पता। बच्चें के मस्तिष्क का सर्वोत्तम विकास करने के लिए गर्भवती और स्तनपान करानेवाले महिलाओं ने '' न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 '' का सेवन करना चाहिए।

'' न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 '' के पैकेट में 30 कैप्सूल रहती है। एक कैप्सूल में 200 मिलीग्राम शुद्ध डीएचए मिलता है। इस डीएचए का सेवन गर्भवती, स्तनपान और गर्भधारण बनाने की योजना बनानेवाले महिलाओं ने सेवन करना चाहिए। 



न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200, तीन स्टेप में कार्य करता है। 


स्टेप :- 1 


न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 के बारे में जानकारी | Information about nutricharge DHA 200

 बच्चे का ब्रेन ऑर्गन डेवलपमेंट करती है। गर्भवती महिला डीएचए का सेवन करती है तभी यह डीएचए रक्त के माध्यम से गर्भ में पल रहे बच्चे के मष्तिष्क में प्रवेश करता है। गर्भ में ही बच्चे के मष्तिष्क का 70 % विकास होता है। न्यूट्रीचार्ज डीएचए यूएसए, यूके, कैनेडा और ऑस्ट्रेलिया में क्लिनिकली रिसर्च के माध्यम से प्रमाणित किया गया है की, '' ब्रेन ऑर्गन डेवलपमेंट '' करता है।

स्टेप :- 2


बच्चे का जन्म होने के बाद नवजात शिशु को डीएचए देना बहुत ही जरुरी है। शिशु के जन्म के बाद शेष मष्तिष्क का विकास पहले दो वर्ष में 15 %  होता है। नवजात शिशु को डीएचए माँ के दूध से मिलता है।
        
स्टेप :- 3 





बच्चे का दूध छूटने के बाद डीएचए कैसे मिलेगा ? यह सवाल आपके मन में आता ही होगा क्यों की नवजात शिशु न्यूट्रीचार्ज डीएचए सॉफ्ट कैप्सूल नहीं खा सकते। बच्चा जब कुछ खाना चालू करता है तभी हम बहारी आहार में डीएचए मिलाकर दे सकते है। इसलिए RCM ने छोटे बच्चों के लिए न्यूट्रीचार्ज ट्विस्ट लॉन्च किया। न्यूट्रीचार्ज ट्विस्ट की एक कैप्सूल को थोड़ा घुमाईये और न्यूट्रीचार्ज ट्विस्ट को आहार में मिलाइये और शिशु को पिलाइये। इस तरह गर्भा अवस्था से लेकर अहार में मिलाने तक शिशु के मष्तिष्क का 85 % विकास होता है।


'' न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 '' सेवन करने से गर्भवती महिला को क्या लाभ होता है   


न्यूट्रीचार्ज डीएचए गर्भवती महिला सेवन करती है तभी रक्त के माध्यम से शिशु के मष्तिष्क में प्रवेश करता है। बच्चों के साथ-साथ सेवन करनेवाली महिला Intelligent और शिशु brilliant होता है।

न्यूट्रीचार्ज केसर पिस्ता प्रोडाइट की जानकारी 
RCM डिस्ट्रीब्यूटर का कार्य करने का तरीका


न्यूट्रीचार्ज डीएचए मस्तिष्क की सक्रियता के लिए सेवन करे ? | Nutricharge DHA intake for brain activation?




  • 6 माह से 2 वर्ष के बच्चे को न्यूट्रीचार्ज डीएचए ट्विस्ट की एक कैप्सूल ( 50 मि.ली ग्राम ) देना चाहिए। 
  • 2 वर्ष से 6 साल तक के बच्चें को दिन में दो बार देना जरुरी है। 6 साल तक बच्चें का मष्तिष्क वयस्क मस्तिष्क का 90 %  विकास होता है।  


न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 सेवन करने के लाभ | Benefits of consuming nutritious DHA

  • डीएचए सेवन करने से समय से पहले या समय के बाद डिलेवरी नहीं होती। समय पर ही डिलेवरी होती है। 
  • शिशु के जन्म के समय के वजन में बढ़ोतरी करता है। 
  • शिशु के आँखों का विकास होता है। 
  • शिशु के मस्तिष्क की क्षमता बढ़ाता है। 




 न्यूट्रीचार्ज उत्पात की जानकारी | Information of nutritious product

न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200, शुद्ध शाकाहारी सॉफ्ट कैप्सूल है। इस कैप्सूल में 100 % शुद्ध शाकाहारी 200 मिलीग्राम डीएचए है। न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 और डीएचए दोनों ही समुद्री पौधों से बने है। डीएचए का फ्लेवर '' कैरेमल '' है। न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200, के  पैकेट में 30 कैप्सूल रहते है। 

न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 के कैप्सूल का कव्हर जेलेटिन के बिना बना है यह हमारे लिए बहुत ही खास बात है। याने की शुद्ध शाकाहारी डीएचए हमें प्राप्त होता है। 



न्यूट्रीचार्ज डीएचए कौन सेवन कर सकता है | nutricharge DHA Who can take

गर्भवती माता, स्तनपान करानेवाली माता या फिर गर्भधारण योजना बनानेवाली महिला। 




सेवन रने का तरीका | Way of taking

न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200, का एक कैप्सूल प्रतिदिन खाना खाने के बाद दो बार एक ही समय पर लेना चाहिए। न्यूट्रीचार्ज डीएचए 200 के अधिक जानकारी के लिए www.nutricharge.in पर क्लिक करे। 

 यह भी जरूर पढ़े 
 RCM Business की जानकारी अपने टीम में शेअर 
 करे और आर्थिक आझादी का अभियान सफल करे  
  
Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.