'' रानीखेत '' पर्यटन स्थल की जानकारी | '' Ranikhet '' tourist destination information


"Ranikhe" भारत के उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले का पर्यटन स्थल है। रानीखेत एक बहुत ही रमणीय हिल स्टेशन है जो देवदार और बलून के पेड़ के बीच स्थित है। 'रानीखेत' का नाम एक स्थानीय लोक कथा के नाम पर रखा गया था। '' Ranikhe'' पहाड़ों के बिच में बसा हुआ धरती का स्वर्ग है।"Ranikhe" प्रकृति द्वारा बड़े पैमाने पर बनाया गया है। फूलों से ढके रास्ते, ठंड पवन के झोके, मन को मोहित करनेवाला शांत वातावरण, पंक्षियों की चिवचिव, झरणों से गिरता हुआ संगमरमर की तरह दिखनेवाला सफेद धुँवाधार पानी आदि से विराजमान हुआ यह '' धरती का स्वर्ग रानीखेत '' है।




'' रानीखेत ''  पर्यटन स्थल की जानकारी | '' Ranikhet '' tourist destination information

कत्यूरि राजवंश उत्तराखंड राज्य का मध्युगीन राजवंश था। इस वंश के राजा सुखदेव ने रानी  '' पद्मिनी '' को घूमने की अनुज्ञा दी। रानी को यह जगह बहुत पसंद आई और इस जगह का नाम 'रानीखेत' रखा गया।


रानीखेत के पर्यटन स्थल | Tourist places in Ranikhet

गोल्फ कोर्स | Golf Course 


Golf Course


कावेरी नदी की कहानी

"Ranikhe" एशिया के सर्वश्रेष्ठ गोल्फ कोर्स में से एक है जिसमें 9 होल कोर्स हैं। यह गोल्फ कोर्स रानीखेत से 5 किलोमीटर दूर है।




चौबटिया गार्डन | Chaubatia Garden

चौबटिया गार्डन

चौबटिया गार्डन एशिया का सबसे बड़ा फल उद्यान माना जाता है। यह गार्डन फ्रूट रिसर्च सेंटर है। इस उद्यान में सेब, प्लम, आडू, अखरोट , खुमानी आदि वृक्ष है। यह बाग रानीखेत से 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। नंदा देवी, नीलकंठ, नंदघुनती और त्रिशूल इस उद्यान से पर्यटक स्थल का मनोरम दृश्य देख सकते हैं।



भालू डैम | Bear Dam
भालू डैम

यह डैम मछली पकड़ने के लिए प्रसिद्ध है। चौबटिया गार्डन से 4 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मछली पकड़ने के लिए वन विभाग की अनुमति लेना पड़ेगा।

कृष्ण माहि की कहानी
ब्रम्ह्पुत्रा नदी की कहानी

हेड़ाखान मंदिर | Hedakhhan Temple

हेड़ाखान मंदिर | Hedakhhan Temple

हेडाखान मंदिर को चिलियानौला के नाम से जाना जाता है। इस जगह से नंदा देवी पर्वत का दृश्य दिखाई देता है। यह स्थान रानीखेत से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

शीतलाखेत | Shitlakhet
शीतलाखेत | Shitlakhet

शीतलाखेत एक बहुत ही सुंदर पर्यटन स्थल है।  शीतलाखेत पंडित गोविन्द बल्लभ पंत की जन्मभूमि है। स्काउट कैम्प लगाए जाते है। होटल और सरकारी विश्राम गृह की व्यवस्था है।

धोलिखेत | Dholikhet
धोलिखेत | Dholikhet

रानीखेत का एक खूबसूरत पर्यटन स्थल ''धोलिखेत'' है। इस जगह से हिमालय की चोटियों का दृश्य बहुत सुंदर दिखता है।


कुमाऊं रेजिमेंटल सेंटर | Kumaon Regiment Center

कुमाऊं रेजिमेंटल की स्थापना 1788 में हैदराबाद में हुई थी। यह एक म्यूजियम है। युद्ध में पकड़े गए हथियार  और ध्वज रखे गए है।

द्वाराहाट | Dwarahat 


द्वाराहाट | Dwarahat

द्वाराहाट उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले की एक तहसील है। द्वाराहाट में गूजर भगवान का मंदिर बहुत लोकप्रिय है। यह स्थान रानीखेत से 21 किमी दूर स्थित है। यहाँ कलात्मक शैली के पुरातत्विक मंदिर 65 है।


नर्मदा नदी की कहानी
गंगा नदी की कहानी


दुनागिरि | Dunagiri

पौराणिक कथा के नुसार त्रेतायुग में दशरथ पुत्र लक्ष्मण को मेघनाथ द्वारा शक्तिबाण लगा था। शक्तिबाण लगने से लक्ष्मण मूर्छित हुए थे। दुनागिरि पर्वत से हनुमानजी संजीवनी बूटी लाने के लिए वैद्यराज शुसेन के अनुरोध पर गए थे। लेकिन वे पूरे पहाड़ को ले आए। द्वाराहाट से दुनागिरि 15 किलोमीटर है।


मजखाली 

मजखाली रानीखेत तहसील में अल्मोड़ा जिले में स्थित है। यहां पर रडार स्टेशन था और यहाँ से हिमालय का नजारा बहुत ही खूबसूरत दीखता है।


दवा का कारखाना | Pharmaceutical factory

दवा फैक्ट्री रामनगर जाने वाली सड़क पर है। पौधे उगाये जाते है। यहाँ पर नर्सरी है। आयुर्वेदिक चिकित्सा अनुसंधान केंद्र है। जड़ीबूटी वनस्पति से दवा बनाते है। आप अगर सैर करने आते है तो यहाँ से आप च्यवनप्राश  अवश्य ख़रीदे।


ताड़ीखेत 

भागीरथी पांडे ने अपने सहकर्मी के साथ एक असहयोग आंदोलन शुरू किया था और एक कॉलेज की स्थापना की थी। इस महाविद्यालय को महात्मा गाँधी ने 1929 में भेट दी थी। कांस्य सामान तैयार करने के लिए एक कंपनी है। रानीखेत से ताड़ीखेत रामनगर जानेवाली सड़क पर 8 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है।


झूला देवी मंदिर | Jhula Devi Temple

झूला देवी मंदिर में मां दुर्गा की मूर्ति स्थापित है। इस मंदिर का निर्माण 8 वीं शताब्दी में किया गया था। यह मंदिर घंटियों के समूह के लिए जाना जाता है। अगर आप रानीखेत आते हैं तो इस मंदिर को जरूर देखें।




कालिका मंदिर | Kalika temple

कालिका पर्यटनस्थल रानीखेत हिल स्टेशन से 8 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। कालिका नगर हरे भरे वृक्ष के बिच में बसा है।


मनिला मंदिर |  Manila Temple

मनिला देवी मंदिर रानीखेत के पास स्थित है। यह स्थल देखने के लिए पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है। मनिला शहर में  लोकगित और परम्परा पर यहाँ के लोग बहुत विश्वास रखते है।


मनकामेश्वर मंदिर |  Mankameshwar Temple 

मनकामेश्वर मंदिर रानीखेत में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण कुमाऊं रेजिमेंट द्वारा करवाया गया था। पिथौरागढ़ के नरसिंह मैदान के पास स्थित है।


पैराग्लाइडिंग | Paragliding 

 पैराग्लाइडिंग ट्रैक रानीखेत से 12 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। पैराग्लाइडिंग के माध्यम से हम आसमान में उड़ सकते है। 

मार्च और जुलाई के बीच का मौसम रानीखेत की यात्रा करने का अच्छा समय है।

अगर यह लेख अच्छा लगे तो अपने दोस्तों को फेसबुक और व्हाट्सअप पर शेयर जरूर करे।


यह भी जरूर पढ़े






Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.