आर.सी.एम स्वतंत्रता गीत | RCM Independence Song


आदरणीय गुरुदेव मनोज दीक्षित सर के लिखित गीत को मुझे प्रकाशित करने का और आर.सी.एम का सन्देश जन जन तक पहुंचाने का मौका मिला इसलिए मैं उनका तहदिल से आभारी हूँ।

न्यूट्रीचार्ज वेज ओमेगा की जानकारी 




आर.सी.एम स्वतंत्रता गीत | RCM Independence Song

आर.सी.एम स्वतंत्रता गीत | RCM Independence Song

भारत माँ के बीर सपूतों माँ की लाज बचा लेना 
आर्थिक आजादी का झंडा घर घर में फहरा देना।  
भारत माँ के ........ 
एक बार हम पराधीन थे अंग्रेजों की थी बरी 
जान जान विस्मित शब्दहीन था बहुत बड़ी थी लाचारी
उसी समय उस प्रकृति पुंज से दिव्य पुरुष एक आया था 
मोहन दास करमचंद गाँधी नाम कर्ण करवाया था 
निज विचार की क्रांति शांति से अंग्रेजों को भगा दिया 
सत्य अहिंसा विश्व बंधु का घर घर डंका बजा दिया 
पुनः जानने की कोशिश हो तो इतिहास उठा लेना 
भारत माँ के .....


देश हुआ आजाद किन्तु बाजार व्यवस्था बिगड़ी थी 
रोजी रोजगार का संकट और समस्या तगड़ी थी 
इन्ही समस्याओं के कारण जनमानस अवरुद्ध हुआ 
दोस्त पडोसी को जाने दो खुद से स्वयं विरुद्ध हुआ 
फिर से प्रकृति व्यवस्था ने एक दिव्य पुरष प्रगटाया है 
संत छाबड़ा नामांकन से जग जाहिर करवाया है 
दर्शन करने की उमंग हो राजस्थान चले जाना 
भारत माँ के ......
आर्थिक आजादी हो कैसे परम् संत का था सपना 
आपस में मिलजुल हर कोई भाग्य स्वयं बदले अपना 
परमारथ के प्रबल पुंज से एक विचार मन को आया 
शब्द अनेकानेक थे निकले लेकिन आर सी एम भया 
15 अगस्त सन 2000 को समय विलक्षण था भाई 
जन्म हुआ जब आर सी एम का भारत माँ थी हर्षाई 
हर्षित करना हो जो स्वयं को इसके वस्त्र पहन लेना 
भारत माँ के ........


आर सी एम वस्त्रों में आकर जो इसको अपनाता है 
जन्म जन्म से जो था ग्राहक वह वितरक बन जाता है 
जीवन की मज़बूरी कारण कष्ट अनेक उठाया जो 
खून पसीने के पैसे को हाट बिच लुटवाया जो 
निर्बल हो गयी ज्ञान पंखुड़ी सत्य अंहिसा भुला दिया 
अपनी कमियां ढूंढ न पाई ईश्वर से था गिला किया 
ऐसा सुंदर समय न मिलना आर सी एम अपना लेना 
भारत माँ के......

सच्चे हो भारत के वासी आर सी एम को अपना लो 
कन्धे पर झोला लटकाकर यश वैभव साधन पालो 
घर का हर सामान बदल दो सत्याग्रह सा त्याग करों 
आर सी एम बाजारों से लेकर, घर घर में सामान भरो
आर सी एम द्वारा 'मनोज' अब जन जन को दिखा देना 
भारत माँ के ......    

रचनाकार - मनोज दीक्षित (कविराज)



यह भी जरूर पढ़े 
 RCM Business की जानकारी अपने टीम में शेअर 
 करे और आर्थिक आझादी का अभियान सफल करे  
  




     
Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.