पोषण विज्ञान क्या है? | What is nutrition science?

 Nutrition Science क्या है? रोजाना कितने पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है? (How much nutrient is required daily?) हमें आहार से पूरा पोषण क्यों नहीं मिलता है? (Why don't we get complete nutrition from diet?) असंतुलित पोषण के संभावित नुकसान क्या है? (What are the possible disadvantages of unbalanced nutrition?) विशेषज्ञों के अनुसार, हमें हर दिन कितने पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है? (According to nutritionists, how many nutrients we need every day?) आदि के बारे में  ''Nutritionist'' द्वारा बताई गयी पोषणतत्व की जानकारी आपको मिलनेवाली है?
आर सी एम वितरक की आदतें 

पोषण विज्ञान क्या है? | What is nutrition science?

शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए आवश्यक 7 पोषण तत्व | The 7 nutritional elements required for the body to run smoothly


हमारा शरीर हमारी सबसे बड़ी पूँछी है. इसको सुचारु रूप से चलने के लिए हमें 7 पोषण तत्वों की आवश्यकता रोजाना होती है, यह 7 प्रमुख पोषण तत्व इस प्रकार है......

अपना व्यक्तिमहत्व बोलना चाहिए 

  1. पानी (water) 
  2. कार्बोहाइड्रेट्स (Carbohydrates) - आलू (Potatoes), चावल (Rice), शक़्कर (Sugar), रोटी (bread) आदि से हमारे शरीर को प्राप्त होता है।  
  3. फैट (Fat) - घी (Ghee), तेल (Oil), मक्खन (Butter) आदि से हमें फैट मिलती है। 
  4. प्रोटीन (Protein) - दूध (Milk), पनीर (Paneer), दालें (Pulses), बादाम (Almonds) आदि से हमें प्रोटीन उपलब्ध होता है। 
  5. विटामिन्स (Vitamins) - फल (Fruits), सूखे मेवें (Dry nuts) आदि से हमें विटामिन्स मिलते है। 
  6. मिनरल्स (Minerals) - हरी सब्जियाँ (Green Leafy Vegetables ), सूखे मेवे (Dry nuts), दूध (Milk), आदि से हमें प्राप्त होता है। 
  7. फाइबर (Faibre) - मोटा अनाज (Whole Grains), फल (Fruits), सब्जियाँ (vegitables) आदि से प्राप्त होता है। 
हम पानी (water) , कार्बोहाइड्रेड (Carbohydrates) और फेट्स (Fat's) का सेवन तो हम रोजाना कर लेते है, क्योंकि हमारा शरीर इनकी जरूरत भूख और प्यास से बता देता है, लेकिन हमें प्रोटीन (Protein), विटामिन्स  (Vitamins), मिनरल्स (Minerals)  और फायबर  (Faibre) की आवश्यकता का पता नहीं चलता है। यह हमें शारीरिक कमजोरी या बीमारी होने पर ही पता चलता है। हम जागरूक होकर प्रोटीन, विटामिन्स व मिनरल्स की नियमित पूर्ति करते रहें तो हम स्वस्थ व लंबा जीवन जी सकते है।

RCM डिस्ट्रीब्यूटर का Behavior कैसा होना चाहिए ?


आहार से सम्पूर्ण पोषण पाने में चुनौतियाँ  | Challenges in getting complete nutrition from diet  


असमय व अनुचित खानपान जैसे जंक फ़ूड, तले हुए व पैक्ड खाद्य पदार्थ का चलन, ताजा फल व सब्जियों का घटता सेवन, कृषि व पकाने में रसायनों का उपयोग, प्रदूषण, मिलावटी खाद्य पदार्थ, दवाईयों का बढ़ता उपयोग जैसे कई कारण है जो हमारे आहार से सही और सम्पूर्ण पोषण लेने में बाधक है।

असंतुलित पोषण के संभावित नुकसान | Probable Consequences of Imbalanced Nutrition 


शरीर में किसी भी तत्व के असंतुलित होने से कई प्रकार की सामान्य से लेकर गंभीर बीमारियाँ हो सकती है, जैसे...


  1. रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी, थकान, कमजोरी व याददाश्त में कमी (Reduced immunity, tiredness, weakness and memory loss.
  2. बालों की सफेदी, झड़ना व कमजोर दृष्टी (Premature hair loss, greying and poor eye sight).
  3. कमजोर हडिड्या, मांसपेशिया एवं दाँत (Weak bones, muscles & teeth)
  4. झुर्रियाँ व बेजान त्वचा (Wrinkled & lifeless skin). 
  5. महिलाओं में मासिक धर्म व गर्भावस्था सम्बंधित रोग व खून की कमी (Anamia, menstruation & pregnancy related problems in women)
  6. ह्रदय रोग व मधुमेह जैसी बीमारियाँ और लिवर संबंधित रोग (Crippling diseases like diabetes, heart troubles and liver disorders).
सपने कैसे देखे ?

रिकमंडेड डायट्री अलाउन्स (RDA)क्या है? | Recommended dietary Allowances (RDA)

विश्व स्वास्थ्य संघटन (world Health Organization), USA, FDA व Indian Council of Medical Research आदि संस्था समय-समय पर पुरुषों, महिलाओं और बच्चों के स्वस्थ जीवन के लिए अलग - अलग आयु के लिए प्रोटीन, विटामिन्स, मिनरल्स और फायबर लेने के दिशानिर्देश तैयार करते है। उनके द्वारा तैयार किए दिशानिर्देशों को रिकमंडेड डायट्री इंटेक (Recommended Dietary Intake) अथवा रिकमंडेड डायट्री अलाउंस (Recommended Dietary Allowance) RDI / RDA  कहा जाता है। इन दिशानिर्देशों के अनुसार पोषक तत्वों जैसे प्रोटीन, विटामिन्स, मिनरल्स और फायबर का रोजाना इस्तेमाल करने से एक स्वस्थ व लम्बी आयु पाई जा सकती है।
कुछ महत्वपूर्ण RDA (Some Important RDA )*
पोषण विज्ञान क्या है? | What is nutrition science?

मेरे सफलताका रहस्य


न्यूट्रिशन विज्ञान क्या है? | What is nutrition science?

आवश्यक पोषक तत्व शरीर को प्राप्त हो इसके लिए दो बातें महत्वपूर्ण है। प्रथम - पोषकतत्व भोजन (Nutritious food) में मौजूद हो और दूसरा - शरीर ें पोषक तत्वों को अवशोषित कर सके। science की मदद से ऎसे तत्व विकसित किये जाते है जो शरीर में सीधे अवशोषित हो जाते है।

उदाहरण से हम समझ सकते है, टमाटर (Tomato) में लायकोपिन (Laycopene) नामक तत्व होता है। शरीर को लायकोपिन (Laycopene) आवश्यक मात्रा में मिले उसके लिए हमें उतने टमाटर (Tomato) खाने होंगे, उन टमाटर (Tomato) की वैसी गुणवत्ता होनी चाहिए कि उतना लायकोपिन (Laycopene) उसमें मौजूद हो व उस लायकोपिन  (Laycopene) को शरीर अवशोषित कर पाए उतना शरीर सक्षम होना चाहिए। वैज्ञानिक तकनीक द्वारा सीधा Pure Laycopene  निकाल कर सप्लीमेंट के रूप में तैयार किया जाता है।

जहा Tomato खाना Food Nutrition है और उसका पेस्ट Food Technology है पर Tomato से Pure Laycopene निकालना वह Nutrition Science से ही संभव है।

Nutricharge ने इस दिशा में काम करते हुए अपने सभी उत्पाद Products में ऐसे ही Nutrients का समावेश किया है।

माँ के गर्भ से लेकर जिंदगी के हर महत्वपूर्ण पड़ाव के लिए nutricharge ने बनाई है विश्वस्तरीय हेल्थ सप्लीमेंट (World Health Supplements) की एक वृहद श्रृंखला।

चाहे वो गर्भ में पल रहे शिशु के मस्तिष्क का निर्माण हो, या फिर आपके नन्हे के पहले कदम, बढ़ते बच्चों की पोषण की जरूरत हो या फिर युवा होती आपकी बेटी की पोषण की विशेष जरूरतें या फिर हमारी जवान बेटों की मसल्स का पोषण, आपकी बढ़ती हुई उम्र के साथ बढ़ती हुई परेशानी, बढ़ता ग्लूकोस का स्तर या फिर दर्दभरा घुटना या फैट के कारण शरीर का बिगड़ा रूप रोजाना आसानी से इस्तेमाल किये जानेवाले और Value for Money, Nutricharge आपके लिए जिंदगी के हर कदम पर साथ है।  

Nutricharge Products - Nutricharge Man, Nutricharge Woman, Nutricharge Protein, Nutricharge Kids, Nutricharge DHANutricharge DHA Twist, Nutricharge BioAge, Nutricharge BJ, Nutricharge S & F, Nutricharge Glycem, Nutricharge Gainer, Nutricharge Energy Drink, Nutricharge View, Nutricharge view 200, Nutricharge veg omegasaffron pistachio prodiet 

जानकारी अपने टीम में Facebook , WhatsApp पर जरूर शेयर करे। 

यह भी जरूर पढ़े 
 RCM Business की जानकारी अपने टीम में शेअर 
 करे और आर्थिक आझादी का अभियान सफल करे  

Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.