B.Sc डायलिसिस टेक्नोलॉजी | B.Sc Dialysis Technology

यदि आप स्वास्थ्य सेवा में अपना करियर बनाना चाहते हैं, लेकिन आप यह नहीं जानते कि यह कैसे करना 
है? भविष्य कैसे बनाएं? कॉलेज की फीस कितनी है और कितने वर्षों तक पढ़ाई की जा सकती है, आदि, तो यह लेख आपके काम का है. (If you want to make a career in healthcare, but you don't know how to do it? how to create a future? How much is the college fee and how many years can be studied, etc., then this article is of your use.)

 B.Sc डायलिसिस टेक्नोलॉजी | B.Sc Dialysis Technology


12 वीं का रिजल्ट जारी किया गया. अब यह तनाव बच्चों के अंदर बढ़ रहा है कि उन्हें कौन सा कोर्स करना चाहिए. हम आपको एक नए कोर्स के बारे में बता रहे हैं. स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र में भी प्रौद्योगिकी के उदय के कारण बहुत सारे तकनीकी परिवर्तन हुए. आइयें जानें  12 वीं के बाद B.Sc डायलिसिस टेक्नोलॉजी में भविष्य (Future in B. Sc Dialysis Technology after 12th )  

यह भी पढ़े :
◾ BUMS में 12 वी के बाद भविष्य बनाएं 
BHMS में 12 वी के बाद भविष्य बनाएं 

B.Sc Dialysis Technology विशेष पाठ्यक्रम में इस कार्यक्रम की अवधि 3 वर्ष है और इसे 6 सेमेस्टर में विभाजित किया जाएगा। यह एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है. इच्छुक उम्मीदवार पूर्णकालिक पाठ्यक्रम में प्रवेश कर सकते हैं. इस कोर्स को पूरा करने के लिए, छात्रों को लगभग 3 साल की अवधि के लिए लगभग 4 से 5 लाख रुपये का भुगतान करना पड़ता है. आपको डायलिसिस तकनीशियन पाठ्यक्रम, प्रवेश और शीर्ष कॉलेजों के बारे में पूरी जानकारी लेख के माध्यम से मिलेगी.


विज्ञान के युग में प्रौद्योगिकी तेजी से विकसित हो रही है, उसी तरह स्वास्थ्य केंद्रों को बेहतर बनाने के लिए नई तकनीक विकसित की जा रही है. स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों में नई मशीनें लगाई जा रही हैं. टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन हो रहा है. मशीनों को संभालने के लिए लाखों लोगों की जरूरत होती है. नौकरी पाने के लिए अध्ययन करना पड़ता है. आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में सेहत पर ध्यान देना जरूरी है.   

12 कक्षा पास होने के बाद हमारे कुछ देखे हुए सपने साकार करने की पायदान चालू होती है. अगर आप साइंस से 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण हुए है और आपकी B.Sc Dialysis Technology कोर्स करना चाहते है तो इस लेख के माध्यम से आपको पाठ्यक्रम विवरण, अवधि, पात्रता , प्रवेश प्रक्रिया, पाठ्यक्रम, कैरियर की संभावनाओं और वेतन विवरण जैसे विषयों की अर्थात बैचलर ऑफ साइंस (B.Sc.) डायलिसिस टेक्नोलॉजी पाठ्यक्रमों पर विस्तार से चर्चा की गई है.

यह भी पढ़े :
◾ BAMS में 12वी के बाद भविष्य बनाएं 
बी फार्मा में 12 वी के बाद भविष्य बनाएं 

B.Sc in Dialysis Technology "डिग्री कोर्स के कई फायदे हैं, क्योंकि अब तक कोई डिग्री डायलिसिस टेक्नोलॉजिस्ट नहीं था. यह कोर्स डिग्री डायलिसिस टेक्नोलॉजिस्ट प्रदान करेगा, मरीजों को प्रशिक्षित टेक्नोलॉजिस्ट से उपचार मिलेगा.

B.Sc में डायलिसिस टेक्नीशियन कैसे बने?(How to Become a Dialysis Technician in B.SC?) B.Sc डायलिसिस टेक्नीशियन में भविष्य कैसे बनाएं?(How to make a future in B.Sc Dialysis Technician?) B.SC डायलिसिस टेक्नीशियन के लिए शैक्षणिक योग्यता?(Educational Qualification for B.Sc  Dialysis Technician?) आदि  जानकारी  लिए विस्तार से चर्चा करेंगे.


डायलिसिस टेक्नोलॉजी परिभाषा | Dialysis Technology Definition

  • डायलिसिस उपचार की आवश्यकता मूल रूप से तब होती है, जब किडनी अपना कार्य ठीक से करने में विफल हो जाती है. कभी-कभी गुर्दे की बीमारियों, कालानुक्रमिक मधुमेह के रोगियों, उच्च रक्तचाप जैसी स्थितियों में डायलिसिस की आवश्यकता होती है.
  • गुर्दे कार्य करने में सक्षम नहीं होते हैं, तब केवल अत्यधिक और अत्यधिक तरल पदार्थ मानव शरीर से हटा दिया जाता है, अर्थात, गुर्दे शरीर से वसायुक्त पदार्थों को हटाने के लिए काम करते हैं. मूत्र के माध्यम से एपिस्टिक्स पदार्थ उत्सर्जित होते हैं.  

डायलिसिस क्यों किया जाता है? | Why dialysis is done

किडनी तभी काम करना बंद करती है, जब शरीर की बेकार सामग्री फिल्टर नहीं कर पाती है और अपिस्ट पदार्थ  शरीर में जमा होने लगते है.किडनी पूर्ण तरह से कामकरना बंद कर देती है तभी डायलिसिस करने का उपाय बचता है. किडनी फेल होने से रक्त फ़िल्टर होना बंद होता है.



डायलिसिस के प्रकार | Types of dialysis   

डायलिसिस के दो प्रकार है 

1. हीमोडायलिसिस : रक्त को बाहरी साधन में मोड़ देता है और फ़िल्टर किए गए रक्त को वापस शरीर में पंप किया जाता है.

2पेरिटोनियल डायलिसिस : डायलिसिस तरल पदार्थ को उदर गुहा से पंप किया जाता है और रक्त वाहिकाओं के माध्यम से एपिस्ट सामग्री को जारी किया जाता है.

 पेरिटोनियल डायलिसिस के दो प्रकार  
A. कंटिन्युअस एम्बुलेटरी पेरिटोनियल डायलिसिस (Continuous ambulatory peritoneal dialysis) :-  इस डायलिसिस में एक दिन में अधिक बार फ़िल्टर होता है.
B. स्वचालित पेरिटोनियल डायलिसिस (Automated peritoneal dialysis) :- जिस समय रोगी रात को सोता है उस समय रक्त को फ़िल्टर किया जाता है।

यह पाठ्यक्रम छात्रों को कुशल डायलिसिस तकनीशियन बनने के लिए डिज़ाइन किया गया है। डायलिसिस तकनीशियनों को डायलिसिस मशीनरी को कैसे संचालित और मॉनिटर करना है. जिन उम्मीदवारों ने सफलतापूर्वक इस कोर्स को पूरा कर लिया है, वे हेमोडायलिसिस मशीन को संचालित करने में सक्षम होंगे तो चलिए जानते हैं B.SC में डायलिसिस टेक्नीशियन कैसे बने ?

यह भी पढ़े :


शैक्षणिक योग्यता | Educational Qualifications

  • 12 वीं कक्षा (भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान विषयों के साथ उत्तीर्ण) में न्यूनतम 45-55%  अंक
कोर्स कालावधी | Course duration 
  • 3 वर्ष अंडरग्रेजुएट कोर्स है
शुल्क | Fees  
  • निजी और सरकारी कॉलेजों के अनुसार फीस देनी होगी.   
प्रवेश प्रक्रिया | admission process
  • कॉमन एंट्रेंस एग्जाम में प्राप्त प्रतिशत के आधार पर और काउंसलिंग के आधार पर एडमिशन लिया जाता है
आयु सीमा | Age Range
  • 17 वर्ष 


Syllabus | पाठ्यक्रम

  • मानव शरीर रचना विज्ञान और शरीर विज्ञान (Human Anatomy and Physiology)
  • कीटाणु-विज्ञान (Microbiology)
  • जीव रसायन (Biochemistry)
  • विकृति विज्ञान (Pathology)
  • औषध (Drugs)
  • गुरदे की बीमारी (Renal disease)
  • डायलिसिस प्रणाली और उपकरण (Dialysis System and Equipment)
  • सुरक्षा और स्वच्छता (Safety and hygiene)
  • डायलिसिस तकनीक (Dialysis technique)

रोजगार के अवसर | Job opportunities

कैरियर के दायरे की बात करें तो यह चिकित्सा क्षेत्र एक आकर्षक कैरियर प्रदान करता है. डायलिसिस तकनीक में डिग्री प्राप्त करना डायलिसिस तकनीशियन के रूप में चिकित्सा क्षेत्र में एक शुरुआत हो सकती है. यह पाठ्यक्रम उम्मीदवारों को रोजगार के अवसर प्राप्त करता है, जैसे की ..........
  • निजी और सरकारी अस्पताल (Private and Government Hospitals)
  • डायलिसिस केंद्र(Dialysis center)
  • क्लीनिक (The clinic)
  • प्रशिक्षण केंद्र (Training Center)

नौकरी प्रोफ़ाइल | Job profile

 B.Sc डायलिसिस टेक्नोलॉजी कोर्स पूरा होने के बाद, आप निम्न पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं.
  • डायलिसिस तकनीशियन (dialysis technician)
  • चिकित्सा सहायक (medical assistant)
  • प्रयोगशाला सहायक (lab assistant) 
  • डायलिसिस चिकित्सक (Dialysis doctor)
उच्च अध्ययन करने के इच्छुक छात्र मास्टर्स ऑफ साइंस (M.Sc) की पढ़ाई के लिए जा सकते हैं.एक ही क्षेत्र में उच्च अध्ययन करने से उम्मीदवारों के लिए एक महान कैरियर की संभावना खुल जाएगी.

वेतन | Salary
  • सुरवात में 15,000 /- से 20,000 /- 
  • अनुभव आने पर  50,000 /- से अधिक हो सकती है.
B.Sc Dialysis Technician Colleges | बीएससी डायलिसिस तकनीशियन कॉलेज
Postscript: अनुलेख

Post Name: B.Sc डायलिसिस टेक्नोलॉजी क्या है?

Description : देश में किडनी रोगियों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए इस कोर्स का अध्ययन किया जाना चाहिए। जहां छात्रों को एक साथ तीन साल का प्रशिक्षण और शिक्षा प्रदान की जाती है और उन्हें करियर बनाने का अवसर मिलता है. 

Author: अमित 

Tags: Dialysis Technician in B.SCfuture in B.Sc Dialysis Technician, Qualification for B.Sc

इंग्लिश में पढ़ने लिए यहाँ क्लिक कीजिए.
Share on Google Plus

About Blog Admin

He is CEO and Faunder of www.pravingyan.com He writes on this blog about Tech, Poems, Love story, General knowledge, Earn money, Helth tips, Great lord and motivational stories. He do share on this blog regularly.