Monday, 13 July 2020

BSC Horticulture Kaise Kare?:बीएससी हॉर्टिकल्चर


बीएससी हॉर्टिकल्चर में करियर कैसे बनाएं? (BSC Horticulture? me career kaise banaye?) हॉर्टिकल्चर क्या है? (Horticulture kya hai?) आइयें जानें बीएससी हॉर्टिकल्चर कैसे करें?(BSC Horticulture Kaise Kare?) 


छात्रों की विज्ञान, कला और कृषि में रुचि रखते हैं, तो बागवानी (Horticulture) में बीएससी करके अपना भविष्य बना सकते है.  


''जय जवान जय किसान'' राष्ट्रसंत तुकडोजी महारज ने कहा है की हमारे देश का किसान सुखी है तो हमारा राष्ट्र सुखी हो सकता है. कृषि भारत के अर्थव्यवस्था की आत्मा है. आत्मा को अर्थव्यवस्था से अलग नहीं होना चाहिए. अर्थात जिस तरह से जीवित शरीर से आत्मा अलग हो गई तो शरीर मृत हो जाता है. इसी तरह कृषि का उत्पाद बढ़ना चाहिए और अर्थवयवस्था मजबूत होनी चाहिए. 


प्रस्तावना: Preface


भारत ने पिछले 60 वर्षो में कृषि को सक्षम बनाने के लिए संसोधन किए गए. हरित क्रांति, पावर जनरेशन, बुनियादी सुविधाएँ आदि से कृषि में सुधारना होने लगी. भारत में फसल पैदावार 30 % से 60 % है. विकसनशील देशों के सामने भारत बहुत ही पीछे है. इसीलिए आज के युवा पीढ़ी ने बागवानी (Horticulture) में प्रवेश करके देश की अर्थव्यवस्था मजबूत करने में अपना योगदान दीजिए. 

बागवानी प्रभाग का मुख्यालय कृषि अनुसंधान भवन- II, पूसा परिसर, नई दिल्ली में स्थित है। दो कमोडिटी / विषय विशिष्ट तकनीकी विभाग (बागवानी के अलावा अन्य) और ... प्रशासन विंग, संस्थान प्रशासन-वी विभाग हैं. उप महानिदेशक (बागवानी) की अध्यक्षता वाले प्रभाग में दो सहायक निदेशक जनरलों, दो प्रधान वैज्ञानिकों और एक उप सचिव (बागवानी) भी हैं. आईसीएआर केंद्र का बागवानी विभाग 10 केंद्रीय संस्थानों, 6 निदेशालयों, 7 राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्रों, 13 अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजनाओं और 6 नेटवर्क परियोजनाओं / विस्तार कार्यक्रमों के माध्यम से भारत में बागवानी अनुसंधान पर काम कर रहा है.

 हॉर्टिकल्चर की परिभाषा:Definition of Horticulture 

हॉर्टिकल्चर (Horticulture) यह शब्द  '' Hortus '' जिसका अर्थ उद्यान होता है. और ''culture'' जिसका अर्थ उगाना होता है इस तरह से (Horticulture) शब्द की उत्पति हुई है.1929 के रॉयल कमीशन की रिपोर्ट के अनुसार, उद्यान विकास और वैज्ञानिक खोज का काम शुरू किया गया था.  

Horticulture विज्ञान की एक शाखा है जो अनाज, फूल और पौधों के बारें में बताती है, बीज को किस तरह से उगाना चाहिए, खत कितनी मात्रा में देना चाहिए, छोटे पौधों की देखभाल कैसे करना, कलम कैसे लगाई जाती है, जब पौधा छोटा रहता है अर्थात बालावस्था में रहता उस समय में कितनी मात्रा में खत देना चाहिए,  आदि के बारें में अध्यन किया जाता है उसके बाद फल, फूल आदि की मार्केटिन के बारें में बताया जाता है.   कोबी, भिंडी, करवा, मिर्ची, दोडका, टमाटर, पालक, निम्बू बट्टा, आलू , सेब, चीकू, बादाम, सुखमेवा, अनाज आदि को खाद्य फसल में  आते हैं, और फूल, पौधे बीज आदि अखाद्य फसलों में आते हैं. बागवानी (Horticulture) वैज्ञानिक अपने ज्ञान, कौशल और तकनीकों का उपयोग  करके मानव के लिए उपयुक्त पौधों का विकास दिनबदिन कर रही है. बागवानी (Horticulture) विज्ञान  में  भौतिकी, रसायन विज्ञान, भूविज्ञान और जीव विज्ञान , सामाजिक विज्ञान, वाणिज्य, विपणन और स्वास्थ्य देखभाल जैसे विषयों को भी अध्ययन किया जाता है.

देश के कई राज्यों के आर्थिक विकास में बागवानी (फलों, सब्जियों सहित आलू, कंद फसलों, मशरूम, सजावटी फूल, कटे हुए फूल, मसाले, रोपण फसल और औषधीय और सुगंधित पौधे सहित) का महत्वपूर्ण योगदान है। से कृषि जी.डी.पी. योगदान 30.4 प्रतिशत है. ICAR द हॉर्टिकल्चर डिवीजन ऑफ इंडिया इस प्रौद्योगिकी आधारित विकास में एक प्रमुख भूमिका निभाता है. आनुवंशिक संसाधनों और उनके उपयोग में वृद्धि, उत्पादन क्षमता में वृद्धि और पर्यावरण के अनुकूल तरीकों से उत्पादन घाटे को कम करना इस क्षेत्र में अनुसंधान की प्राथमिकता है.

B.Sc.in Horticulture कृषि के क्षेत्र के लिए एक उन्नत पाठ्यक्रम है जो पौधों की खेती और बीज अध्ययन के विषयों को जोड़ती है. पाठ्यक्रम में पौधों की बीमारियों, विकास और आनुवंशिकी को भी शामिल किया गया है. पाठ्यक्रम में ऐसे अभ्यास शामिल हैं जो गुणवत्ता को नुकसान पहुंचाए बिना पौधों की वृद्धि और उपज को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं. इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए, पाठ्यक्रम जैव रसायन, आनुवांशिक इंजीनियरिंग, जीव विज्ञान और अन्य संबंधित विषयों की अवधारणाओं को जोड़ता है. उचित मूल्य पर गुणवत्तापूर्ण भोजन की निरंतर मांग है और इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए बागवानी (Horticulture) विशेषज्ञों की आवश्यकता है.


बीएससी हॉर्टिकल्च शैक्षणिक योग्यता : BSc Horticulture Educational Qualification

  • हॉर्टिकल्चर में प्रवेश के लिए, साइंस स्ट्रीम से 12 वीं पूरी करने के बाद, कोई अंडरग्रेजुएट कोर्स में एडमिशन ले सकता है. 
  • छात्रों को इसका अध्ययन करने के लिए भारतीय कृषि अनुसंधान प्रवेश परिषद (Indian Council of Agricultural Research Admissions) पास करना होगा.

कोर्स की अवधि:Course duration
  • 3 वर्ष है. 

फीस:Fees 
  • सरकारी और निमसरकारी कॉलेज की फीस में अंतर होता है.

प्रवेश परीक्षा: Entrance exam
  • CG PAT- CG pre-agricultural test
  • IISER IAT - Indian Institute of Science Education and Research,  Implicit Association Test. 
  • OUAT- Orissa University of Agriculture and Technology. 
  • GSAT- GITAM Science Admission Test
  • BHU UET- Banaras Hindu University (BHU) has proposed to conduct the BHU Undergraduate Entrance Test (UET)
  • NEST- National Entrance Screening Test.  आदि बीएससी हॉर्टिकल्च के लिए प्रवेश परीक्षा देना होता है.   


बीएससी हॉर्टिकल्च सिलेबस:BSC Horticulture Syllabus


बी.एससी. horticulture डिग्री कोर्स 3 साल का पूर्णकालिक स्नातक पाठ्यक्रम है यह पाठ्यक्रम 6 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है. horticulture कृषि विज्ञान की शाखा है जो सब्जियों, पौधों, फूलों, जड़ी-बूटियों, फलों, झाड़ियों, झाड़ियों, बगीचों की खेती और बागानों, सजावटी पेड़ों के लिए भूनिर्माण, नर्सरी, ग्रीनहाउस, बागानों और बागानों को बनाए रखने और फूलों की खेती से संबंधित है. तो चलिए जानते है, विषयों के बारें में...


First year :पहला साल
  • मृदा विज्ञान का परिचय (Introduction to Soil Science)
  • बागवानी फसलों का विकास (Growth Development of Horticulture Crops)
  • उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय फल (Tropical and Subtropical Fruits)
  • खाद्य प्रौद्योगिकी के बुनियादी ढांचे (Fundamentals of Food Technology)
  • सांख्यिकी के मूल तत्व (Fundamentals of Statistics)
  • आनुवंशिकी के सिद्धांत (Principles of Genetics)
  • पादप परजीवी निमेटोड (Plant Parasitic Nematode)
  • परिचयात्मक माइक्रोबायोलॉजी (Introductory Microbiology)
  • फसल भौतिकी (Crop Physiology)
  • कंप्यूटर अनुप्रयोग के तत्व (Elements of Computer Application)
  • पौधे का प्रसार (Plant Propagation)
  • बागवानी के बुनियादी ढांचे (Fundamentals of Horticulture)
  • उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय सब्जी (Tropical and Subtropical Vegetable)
  • विस्तार शिक्षा के मूल सिद्धांत (Fundamentals of Extension Education)
  • बागवानी फसलों में जल प्रबंधन(Water Management in Horticulture Crops)

second year:द्वितीय वर्ष
  • शीतोष्ण फल (Temperate fruit)
  • फलों का प्रजनन (Fruit breeding)
  • एंटोमोलॉजी के फंडामेंटल (Entomology Fundamentals)
  • पादप प्रजनन के सिद्धांत (Principles of plant breeding)
  • मसाले (Spices)
  • समशीतोष्ण सब्जियों (Temperate vegetables)
  • बाग प्रबंधन (Garden management)
  • पर्यावरण विज्ञान (Environmental Science)
  • सजावटी बागवानी (Ornamental Gardening)
  • मशरूम कल्चर (Mushroom Culture)
  • वाणिज्यिक फूलों की खेती (Commercial floriculture)
  • कीट पारिस्थितिकी (Insect ecology)
  • जीव रसायन (Biochemistry)
  • कंद फसलें (Tuber crops)
  • वृक्षारोपण फसलें (Plantation crops)
  • मृदा विज्ञान(Soil Science I)

Third-year:तीसरा वर्ष
जैविक खेती (Organic Farming)
पादप जैव प्रौद्योगिकी के सिद्धांत (Principles of Plant Biotechnology)
उद्यमिता विकास (Entrepreneurship Development)
 बागवानी फसलों का प्रसंस्करण (Processing of Horticultural Crops)
सुदूर संवेदन (Remote Sensing)
 औषधीय और सुगंधित पौधे (Medicinal and Aromatic Plants)
 परिचयात्मक एग्रोफोरेस्ट्री  (Introductory Agroforestry)
बीज उत्पादन (Seed Production)
प्रमुख फील्ड फसलों का परिचय  (Introduction of Major Field Crops)
 मधुमक्खी पालन (Apiculture)
 प्रजनन और बीज उत्पादन(Breeding and Seed Production)
 बागवानी व्यवसाय प्रबंधन (Horticulture Business Management)
फसल कटाई के बाद का प्रबंधन (Post-harvest Management)

जॉब/ करियर: Job / Career

  • बाग़बान (Horticulturist)
  • प्रजनन प्रबंधक (Breeding Manager)
  • बागवानी विशेषज्ञ (Horticulture Specialist)
  • फसल सलाहकार (Crop Consultant)
  • वृक्षारोपण प्रबंधक (Plantation Manager)
  • प्लांट ब्रीडर (Plant Breeder)
  • तकनीकी सहायक (Technical Assistant)
  • फसल उत्पादन सलाहकार (Crop Production Advisor)
  • फूड टेक्नोलॉजिस्ट (Food Technologist)
  • शोध वैज्ञानिक (Research Scientist)
  • नर्सरी प्रबंधक (Nursery Manager)
  • फसल निरीक्षक (Crop Inspector)
  • प्लांट मैनेजर (Feed Plant Manager)
  • प्लांट जेनेटिक (Plant Geneticist)
वन विभाग सरकार, निजी बागान कंपनियों, कृषि कंपनियों, फूलों के खेतों, और ऐसे अन्य संगठनों में रोजगार की संभावना है। सरकारी विभागों द्वारा प्रस्तावित नौकरियां रुपये से भिन्न हो सकती हैं 3 लाख 4 लाख प्रति वर्ष या अधिक हो सकता है.  हॉर्टिकल्चर में पोस्टग्रेजुएट या एमबीए मैनेजर लेवर जॉब की स्थिति के बाद भी किया जा सकता है और इन नौकरियों के लिए पैकेज प्रति वर्ष 7.5 लाख रुपये तक जा सकता है।


बीएससी कोर्स : BSc Course

आप निम्नलिखित विषयों में बीएससी कर सकते है. 
B.Sc Actuarial Sciences, B.Sc Agriculture और B.Sc Anthropology, B.Sc Electronics. 


बीएससी हॉर्टिकल्च के बाद के कोर्स 

Msc horticulture:
यह एक मास्टर डिग्री कोर्स है अर्थात post graduation लेबल की परीक्षा होती है. इस कोर्स की अवधि  2 साल की रहती है. 


B tech
बीटेक, बैचलर कोर्स है.एक इंजीनियरिंग डिग्री होती है। इस कोर्स की अवधि 4 साल है.

PhD
सम्पूर्ण ज्ञान पाने के लिए लोग पीएचडी भी कर सकते है. ये एक डॉक्टरेट उपाधि है. इसे करने से आप इस सब्जेक्ट के प्रोफेसर या ऊंची पोस्ट की high job पा सकते है. 

Certificate diploma
कुछ कॉलेज या इंस्टिट्यूट इस लाइन के छोटे - मोटे डिप्लोमा भी कराते हैं. जिन्हें कर लेने से इस सेक्टर में आप जॉब के लिए अप्लाई कर सकते है. इनकी समय - अवधि एक या दो साल की होती है. इसे करने में समय के साथ - साथ पैसा भी कम खर्च होता है. 

 ग्रेजुएशन करने के बाद इसमें आप मास्टर डिग्री भी हासिल कर सकते हैं. इसमें दाखिले के लिए भी उम्मीदवार को इंडियन काउंसिल फॉर एग्रीकल्चरल रिसर्च द्वारा आयोजित एंट्रेंस टेस्ट पास करना होता है। कुछ विश्वविद्यालय और संस्थान अपनी अलग एंट्रेस एग्जाम लेते हैं। कोर्स की अवधि दो साल होती है.


संस्थान: institute
  • Lovely professional university Chandigarh
  • BFIT Group of institutions Dehradun
  • Lovely Professional University Jalandhar
  • Uttaranchal College of biomedical sciences and hospital Dehradun
  • Sai Institute of paramedical and allied sciences Dehradun
  • Dev Bhoomi Institute of management studies Dehradun
  • Dolphin PG Institute of biomedical and natural sciences Dehradun
  • Doon business school Dehradun
  • Annamalai university Chennai
  • Hemwati Nandan bahuguna Garhwal university Uttarkhand
  • Banaras Hindu University Varanasi
  • Andhra University Visakhapatnam
  • Dibrugarh University Dibrugarh

यह भी पढ़े :