Wednesday, 1 July 2020

Marsha.p. Johnson biography:मार्शा.पी. जॉनसन जीवनी


मार्शा.पी. जॉनसन कौन है? (Who is Marsha P Johnson?), 30 जून 2020 गूगल डूडल जानकारी (30 June 2020 Google doodle information), आइयें जानें मार्शा.पी. जॉनसन जीवनी (Marsha.p. Johnson biography)
 
A person decorated a bunch of flowers on the forehead. Who is this? Why did Google makes them doodles on its home page? What did he do?






गूगल (Google) ने अमेरिका में समलैंगिक अधिकारों के लिए लड़ने वाली क्रांतिकारी मार्शा पी. जॉनसन (Marsha P Johnson) का डूडल (Doodle) बनाकर उन्हें 30 जून 2020 को सम्मानित किया है. मार्शा जॉनसन ने समलैंगिक अधिकारों के लिए लड़ते-लड़ते ही दुनिया को अलविदा कह दिया था. मार्शा जॉनसन (Google Doodle Celebrating Marsha P. Johnson) को मरणोपरांत न्यूयॉर्क सिटी प्राइड मार्च के भव्य मार्शल के रूप में 30 जून को सम्मानित किया गया था. एक व्यक्ति ने माथे पर फूलों का एक गुच्छा सजाया यह कौन है? Google ने उन्हें अपने होम पेज पर डूडल बनाकर क्यों पेश किया? उसने क्या किया? तो चलीये जानते है, मार्शा.पी.जॉनसन के बारे में...

मार्शा.पी. जॉनसन परिचय:Marsha p. Johnson introduction

  • नाम: मार्शा.पी. जॉनसन
  • जन्म दिनांक: 24 अगस्त 1945 
  • जन्म ठिकान: एलिजाबेथ (अमेरिका)
  • पिजाजी का नाम : मैल्कम माइकल्स जूनियर 
  • माताजी का नाम : अल्बर्टा क्लीबोर्न 
  • मृत्यु : 6 जुलाई 1992  न्यूयॉर्क (अमेरिका) 


मार्शा.पी. जॉनसन का पारिवारिक जीवन : Marsha p. Johnson's Family Life

मार्शा.पी. जॉनसन के पिताजी कंपनी में औजार बनाने का काम करते थे. अर्थात उनके माता-पिता मजदूरी करके अपने 5 बच्चों की परवरिश करते थे वे अमेरिका के एलिजाबेथ न्यू जर्सी में रहते थे. ईसाई धर्म में रूचि होने के कारण वे अपना ज्यादा तर समय चर्च में गुजारते थे. उनकी पढ़ाई एलिजाबेथ के थॉमस ए एडिसन एंड तकनीकी अकादमी से उच्चा शिक्षा की पढ़ाई 1963 में पूरी की.पढ़ाई होने के बाद घर छोड़ दिए और साथ में मात्र 15 डॉलर लेकर गए थे. घर छोड़ने के बाद न्यूयॉर्क (New York) के '' ग्रीनविच '' गांव में रहने लगे.  

मार्शा.पी. जॉनसन अमेरिका साठ के दशक में एक उत्कीर्ण वस्तु के रूप में उभरा. समलैंगिक लोगों के अधिकारों के लिए जमकर काम किया. वह खुद को 'ड्रैग क्वीन' कहता था. लिंग के मामलों में, वह अपने आप को पुरुष या महिला के बाइनरी में बांधना पसंद नहीं करता था उस समय, ट्रांसजेंडर शब्द उपयोग में नहीं था, इसलिए यह उनके लिए कहीं भी इन शब्दों को पढ़ने के लिए उपलब्ध नहीं है. लेकिन मार्शा.पी. जॉनसन को महिलाओं के कपड़े पहनना और मेकअप करना बहुत पसंद था. वह एक पुरुष था, लेकिन उसकी एक अलग पहचान थी, जो कि एक रानी थी, जिसने उसे लोकप्रिय बना दिया.

मार्शा .पी. जॉनसन का जन्म 24 अगस्त, 1945 को मैल्कम माइकल्स, जूनियर, एलिजाबेथ, न्यू जर्सी में हुआ था. जॉनसन ने अपने ईसाई परवरिश के कारण एक कठिन बचपन का अनुभव किया. वह कम उम्र में क्रॉस-ड्रेसिंग व्यवहार में लगी हुई थी, लेकिन जल्दी ही फटकार लगाई गई थी. हाई स्कूल से स्नातक करने के बाद, जॉनसन न्यूयॉर्क शहर के ग्रीनविच विलेज चले गए और न्यूयॉर्क में, मार्शा यूनियन के लिए लड़ना जारी रखा. हालांकि, क्रिस्टोफर स्ट्रीट की नाइटलाइफ़ के बीच उन्हें एक रानी के रूप में खुशी मिली. जॉनसन ने अपनी वेशभूषा (ज्यादातर थ्रिफ्ट दुकानों से) डिज़ाइन की. वह जल्दी से एलजीबीटीक्यू समुदाय में एक बड़ी स्थिरता बन गई, बेघर और संघर्षरत एलजीबीटीक्यू युवाओं की मदद करके और हॉट पीचर्स के साथ एक सफल ड्रैग क्वीन के रूप में दुनिया का दौरा करके "ड्रैग मदर" के रूप में काम कर रही थी.

मार्शा.पी. जॉनसन के कार्य: Marsha p. Johnson's works

  • मार्शा.पी.जॉनसन एक अफ्रीकी अमेरिकी ट्रांसजेंडर महिला थीं, जो एलजीबीटीक्यू अधिकार कार्यकर्ता थीं और रंग के ट्रांस लोगों के लिए मुखर वकील थी. जॉनसन ने 1969 में सिल्विया रिवेरा के साथ स्टोनवैल के विद्रोह का नेतृत्व किया, उन्होंने बाद में स्ट्रीट ट्रांसवेस्टाइट (अब ट्रांसजेंडर) एक्शन रेवोल्यूशनरीज़ (स्टार) की स्थापना की, जो न्यूयॉर्क शहर में बेघर ट्रांसजेंडर युवाओं की मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है. 6 जुलाई 1992 को उनका निधन हो गया. उनके जीवन को कई पुस्तकों, वृत्तचित्रों और फिल्मों में दिखाया गया है. उनके जीवन पर वृत्तचित्र नेटफ्लिक्स पर उपलब्ध है, जिसका शीर्षक 'द लाइफ एंड डेथ ऑफ मार्श.पी. जॉनसन'('The Life and Death of Marsh.P.') है. 
  • 1960 के दशक के मध्य से 1980 के दशक के मध्य तक समलैंगिकों के अधिकारों के लिए संघर्ष किया. इसके लिए उन्होंने अमेरिका में आंदोलन खड़ा किया और मोर्चे पर रहकर इस लड़ाई में मुख्य भूमिका निभाई. उनके आंदोलन को 'गे मुक्ति' नाम दिया गया था. आज समलैंगिकों को विशेष अधिकार प्राप्त है. वे शादी कर सकते है. उनके प्रयासों के कारण ही समाज के नजरिया को बदला है.  
  • मार्शा, जो पेशे से वकील थी, पुरुष प्रधान समाज के खिलाफ थी. वह आंदोलन के माध्यम से आम लोगों की तरह समलैंगिक लोगों को सशक्त बनाना चाहते थे. वह चाहते थे कि समलैंगिक लोगों को समाज द्वारा अलग तरह से नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने मांग की कि उनके साथ भेदभाव करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की अनुमति दी जानी चाहिए और समलैंगिक लोग अपना जीवन अपने इच्छा से जीना चाहिए.
  • 1960 के अंत से लेकर 1980 के मध्य के दशक तक समलैंगिकों के अधिकारों की लड़ाई लड़ी थी. 
  • आंदोलन को 'समलैंगिक मुक्ति' का नाम दिया गया था.
  • 1970 के दशक की शुरुआत में, मार्शा ने अपने दोस्त सिल्विया रिवेरा के साथ मिलकर देश में पहले ट्रांसजेंडर अधिकार संगठनों में से एक स्ट्रीट ट्रांसवेस्टाइट एक्शन रेवोल्यूशनरीज़ (S.T.A.R.) की स्थापना की.
  • 30 जून 2020 का मार्शा.पी. जॉनसन का गूगल टूडल  Google Doodle लांस एंजेलिस के रॉब गिलियाम ने बनाया है. 
यह भी पढ़े :

Postscript: अनुलेख

Post Name: Marsha.p. Johnson biography:मार्शा.पी. जॉनसन जीवनी  

Description : आंदोलन लंबे समय तक चला और आज, इस आंदोलन और मार्शा के नेतृत्व के कारण, समलैंगिकों को विशेष अधिकार प्राप्त हैं. जानकारी के अनुसार, वह एक एड्स कार्यकर्ता भी था. उस समय, एड्स रोगी को बिना किसी बीमारी के देखा गया था, इसलिए उसने इसके खिलाफ लड़ाई लड़ी और लोगों में जागरूकता फैलाई.

Author: अमित 

Tags: Marsha.p. Johnson, 30 June Google Doodle