bba kors kya hai?:बीबीए कोर्स क्या है?


बीबीए क्या है? (bba kya hai?), बीबीए कैसे करें? (bba kaise kare?), बीबीए में करियर कैसे बनाएं?(bba me career kaise banaye?) आएयें जाने बीबीए कोर्स क्या है? (bba Course kya hai?)

 
छात्र को 12 वीं के परिणाम के बाद किस क्षेत्र का चयन करना चाहिए, उनके सामने एक बड़ी समस्या है, अधिकांश छात्र भ्रमित हो जाते हैं. भारत में रहने वाले छात्रों के पास करियर को आगे बढ़ाने के लिए उनके सामने कई पाठ्यक्रम हैं, जिसके कारण उनका चिंतित होना आम है. पिछले दो दशकों में, भारत की शिक्षा प्रणाली में काफी बदलाव आए हैं.




आज हमारे पास कई पेशेवर पाठ्यक्रम और साथ ही कई डिग्री पाठ्यक्रम हैं. इस तरह के पाठ्यक्रम छात्रों के बीच बहुत लोकप्रिय हो रहे हैं जिसके बाद उन्हें सीधे कुछ नौकरियां मिल सकती हैं. नौकरियों की संभावना के साथ, आपका भविष्य भी संशोधित किया जा सकता है. बीबीए इसके लिए एक बेहतर विकल्प हो सकता है.

बीबीए पाठ्यक्रम प्रबंधन शिक्षा की एक बुनियादी समझ प्रदान करने और संचार कौशल में छात्रों को प्रभावी ढंग से प्रशिक्षित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है जो उद्यमशीलता कौशल विकसित करते हैं. इसमें, छात्रों को प्रबंधन पेशे में बनाए जा रहे नए अवसरों का पता लगाने के लिए तैयार किया जाता है. व्यवसाय प्रशासन अध्ययन पद्धति में मामले के अध्ययन, परियोजनाओं, प्रस्तुतियों, औद्योगिक यात्राओं और उद्योग के विशेषज्ञों के साथ बातचीत के रूप में व्यावहारिक अनुभव के माध्यम से प्रशिक्षण शामिल है.
 
यह भी पढ़े :

प्रस्तावना: Preface


वर्तमान में, हमारी शिक्षा प्रणाली वह है जो छात्रों के लिए विकल्पों का एक बड़ा स्पेक्ट्रम प्रदान नहीं करती है, ताकि आपको यह नहीं सोचना पड़े कि आप स्कूल के बाद किस कोर्स में जाते हैं. एक चिकित्सक या इंजीनियर के रूप में खुद को स्थापित करने और किसी भी पेशे में उत्कृष्टता के लिए आपको विशेष कौशल की आवश्यकता होती है, लेकिन बीबीए पाठ्यक्रम में ऐसा कुछ नहीं है. इसके लिए आप आसानी से एडमिशन ले सकते हैं.

BBA कोर्स यह एक बहुत ही लोकप्रिय डिग्री कोर्स है, जिसका अध्ययन करने के बाद, आप सीखेंगे कि पूरी तरह से व्यवसाय कैसे करें और आप व्यवसाय में कोई भी काम कर सकते हैं लेकिन कोर्स करने में बहुत समय लगता है तो आइए जानते हैं इस कोर्स को करने के बाद , हम कहां नौकरी कर सकते हैं और बीबीए कोर्स की क्षमता  और इसकी योग्यता क्या होनी चाहिए, तो चलिए जानते है बीबीए कोर्स के बारे में ....


बीबीए की परिभाषा : Definition of BBA


BBA की डिग्री की पढ़ाई करने के लिए 3 साल का अवधि लगता है. तीन साल के कोर्स में छात्र एकाउंटिंग (Accounting) एप्लाइड स्टैटिक्स (Applied Statics), बुसिनेस कम्युनिकेशन (Business Communication) मैनेजमेंट (Management), मार्केटिंग (Marketing) और बहुत सारे बिज़नेस के रिलेटेड सारे सब्जेक्ट को पढ़ाया जाता है अगर आप ये कोर्स को कम्पलीट कर लेते हो तो ऐसे में आप कहीं भी अच्छी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है.

बीबीए एक स्नातक डिग्री है. दिल्ली यूनिवर्सिटी ने 2013 में बैचलर ऑफ बिजनेस स्टडीज (Bachelor of Business Studies) (बीबीएस-BBS), बैचलर ऑफ बिजनेस इकोनॉमिक्स (Bachelor of Business Economics) और बैचलर ऑफ़ फाइनेंशियल इन्वेस्टमेंट एंड एनालिसिस (Bachelor of Financial Investment and Analysis) (बीएफआईए-BFIA) को मिलाकर एक बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (Bachelor of Management Studies) (बीएमएस-BMS) तैयार किया है. जिसकी अवधि चार साल है.


यह भी पढ़े :

बीबीए का फुल फॉर्म : Full form of BBA


  • बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (Bachelor of Business Administration)
  • व्यावसायिक प्रबंधन में स्नातक (Bachelor of Business Administration)

शैक्षणिक योग्यता : Educational Qualifications


बीबीए में प्रवेश पाने के लिए आपके पास इंटरमीडिएट (10 + 2) पास होना चाहिए. इंटरमीडिएट में कम से कम 50% अंक होना भी आवश्यक है. यदि आप 12 वीं कर रहे हैं, तो आप इसकी प्रवेश परीक्षा भी दे सकते हैं. कुछ कॉलेज बीबीए में छात्र के प्रवेश को निर्देशित करते हैं और वे प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करते हैं. 



बीबीए विषय: BBA Subjects 

बीबीए कोर्स 3 साल का होता है, जिसमें 6 सेमेस्टर होते हैं, प्रत्येक सेमेस्टर 4 माह के बाद होता है

  • व्यवसाय प्रशासन वित्त स्नातक (Bachelor of Business Administration Finance),
  • बैचलर ऑफ बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमैंट (Bachelor of Business Administration Human Resource Management),
  • प्रबंधन के सिद्धांत, (Principles of Management),
  • बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन मार्केटिंग में स्नातक, (Bachelor of Business Administration Marketing),
  • व्यावसायिक अर्थशास्त्र, (Business Economics),
  • लेखांकन - वित्तीय और प्रबंधन लेखांकन, (Accounting – Financial and Management Accounting),
  • व्यावसायिक गणित, (Business Mathematics),
  • विपणन प्रबंधन, (Marketing Management),
  • सांख्यिकी, (Statistics),
  • संचालन अनुसंधान, (Operations Research),
  • उत्पादन और सामग्री प्रबंधन, (Production and Material Management),
  • कार्मिक प्रबंधन और औद्योगिक संबंध. (Personnel Management and Industrial Relations.

बीबीए के लिए प्रवेश परीक्षा : Entrance Exam for BBA

यह एक राष्ट्रीय लेवल की परीक्षा (National Level Test) है जो हर साल मई (May) के महीने में कराया जाता है और यह एग्जाम इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी (Indraprastha University) द्वारा लिया जाता है.

SET: 

सिम्बोसिस एंट्रेंस टेस्ट (Symbiosis Entrance Test) होता है और यह एग्जाम हर साल मई (May) के महीने में होता है. यह एग्जाम सिम्बोसिस यूनिवर्सिटी (Symbiosis University) द्वारा कराया जाता है.

यह एग्जाम भी राष्ट्रीय लेवल की एग्जाम (National Level Test) है जो नरसी मुंजी इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज (Narsee Monjee Institute of Management Studies) द्वारा कंडक्ट किया जाता है.


AIMA UGAT: 

आइमा अंडर ग्रेजुएट एप्टीटुड टेस्ट (AIMA Under Graduate Aptitude Test). और यह एग्जाम भी राष्ट्रीय लेवल की एग्जाम है जो आल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (All India Management Association) द्वारा कंडक्ट किया जाता है.


DU JAT : 

यह एग्जाम भी राष्ट्रीय लेवल की एग्जाम है जो दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University) द्वारा प्रोफेशनल अंडरग्रेजुएट डिग्री में एडमिशन के लिए कराया जाता है.

यह भी पढ़े :
 

बीबीए सिलेबस : BBA Syllabus 

6 सेमेस्टर में पढ़ाएजानेवाले विषय निम्नलिखित है. 


पहला सेमेस्टर (First Semester) 
  • प्रबंधन के तत्व (Elements of Management)
  • संवर्धन पाठ्यक्रम- I  (Enrichment Course-I)
  • व्यावसायिक अंग्रेजी - I  (Business English – I)
  • व्यवसायिक गणित - I  (Business Mathematics – I)
  • माइक्रो इकोनॉमिक्स के सिद्धांत  (Principles of Micro Economics)
  • वित्तीय लेखांकन के सिद्धांत  (Principles of Financial Accounting)


द्वितीय सत्र (Second semester) 
  • कंपनी के खाते (Company Accounts)
  • व्यावसायिक अंग्रेजी - II (Business English – II)
  • मैक्रों अर्थशास्त्र के सिद्धांत (Principles of Macro Economics)
  • भारतीय समाज का परिचय (Introduction to Indian Society)
  • व्यावसायिक गणित - II (Business Mathematics – II)
  • संवर्धन पाठ्यक्रम -II (Enrichment Course –II)


तीसरा सेमेस्टर (Third Semester) 
  • संवर्धन पाठ्यक्रम -III (Enrichment Course -III)
  • प्रबंधकीय कौशल (Managerial Skills)
  • भारतीय व्यापार पर्यावरण का परिचय (Introduction to Indian Business Environment)
  • व्यावसायिक सांख्यिकी का परिचय (Introduction to Business Statistics)
  • सरकार और व्यापार (Government & Business)
  • व्यापार में मौखिक संचार(Oral Communication in Business)


चौथा सेमेस्टर (Fourth Semester)
  • अंग्रेजी साहित्य (English Literature)
  • संवर्धन पाठ्यक्रम –IV (Enrichment Course –IV)
  • संचालन अनुसंधान का परिचय (Introduction to Operations Research)
  • कर लगाना (Taxation)
  • संगठनात्मक व्यवहार का परिचय (Introduction to Organizational Behavior)
  • भारतीय व्यापार इतिहास (Indian Business History

पांचवां सेमेस्टर (Fifth Semester) 
  • व्यापार कानून (Business Law)
  • मानव संसाधन प्रबंधन (Human Resource Management)
  • वित्तीय प्रबंधन के बुनियादी ढांचे (Fundamentals of Financial Management)
  • विपणन प्रबंधन (Marketing Management)
  • संवर्धन पाठ्यक्रम –वी (Enrichment Course –V)
  • भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy)


छह सेमेस्टर (Six Semester) 
  • अनुसंधान पद्धति के सिद्धांत (Principles of Research Methodology)
  • सामरिक प्रबंधन का परिचय (Introduction to Strategic Management)
  • संवर्धन पाठ्यक्रम -VI (Enrichment Course –VI)
  • प्रबंधन सूचना प्रणाली (Management Information System)
  • वित्तीय सेवाएं (Financial Services)

विशेषज्ञता पाठ्यक्रम : specialization course
  • बीबीए इन फाइनेंस (BBA in Finance)
  • बीबीए इन ह्यूमन रिसोर्स (BBA in Human Resourse)
  • बीबीए इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (BBA in International Technology)
  • बीबीए इन मार्केटिंग (BBA in Marketing)
  • बीबीए इन फॉरेन ट्रेड (BBA in Foreign Trade)
  • बीबीए इन सप्लाई चैन मैनेजमेंट (BBA in Supply Chain Management)
  • बीबीए इन होटल मैनेजमेंट (BBA in Hotel Management)
  • बीबीए इन इंटरनेशनल बिज़नेस मैनेजमेंट (BBA in International Business Management)
  • बीबीए में कोन कोन से कॉमन सब्जेक्ट होते है? (What are the common subjects in BBA?)


बीबीए में कोन कोन से कॉमन सब्जेक्ट होते है? (What are the common subjects in BBA?)
  • बिज़नेस मैनेजमेंट (Business Management)
  • बिज़नेस इकोनॉमिक्स (Business Economics)
  • बिज़नेस लॉ (Business Law)
  • मार्केटिंग मैनेजमेंट (Marketing Management)
  • फाइनेंस मैनेजमेंट (Finance Management)
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट (Human Resource Management)
  • क्वांटिटेटिव तकनीक (Quantitative Technique)

    निजी नौकरी का विकल्प : Private job option
    • विज्ञापन (advertising)
    • विमानन (Aviation)
    • बैंकिंग (Banking)
    • कंसल्टेंसी (Consultancy)
    • अंकीय क्रय विक्रय (Digital marketing)
    • मनोरंजन (Entertainment)
    • वित्त (Finance)
    • सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) (Information Technology (IT))
    • बीमा (Insurance)
    • मीडिया (Media)
    • ऑफ़लाइन विपणन (Offline marketing)
    • विनिर्माण (Manufacturing)


    सरकारी नौकरी का विकल्प: Government job option
    • उद्यमिता (Entrepreneurship)
    • वित्त और लेखा प्रबंधन (Finance and Accounting Management)
    • एच आर प्रबंधन (HR Management)
    • विपणन प्रबंधन (Marketing Management)
    • आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन (Supply Chain Management)
    • पर्यटन प्रबंधन (Tourism Management)

    सैलरी पैकेज: Salary package 

    भारत में बीबीए छात्रों को जॉब देनेवाली कम्पनिया निम्नलिखित है. 
    • हिंदुस्तान यूनिलीवर (Hindustan Unilever)
    • आईसीआईसीआई (ICICI)
    • टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (Tata Consultancy Services)
    • आईबीएम (IBM)
    • बीबीए कोर्स पूरा करने के बाद ऑन-कैंपस  से  ही छात्रों को जॉब के लिए ऑफर किया जाता है और उनका वेतन प्रति वर्ष 2 लाख के करीब हो सकता है.
    • कुछ छात्रों को प्रति वर्ष 5 लाख या उससे अधिक का पॅकेज ऑफर करते है.
    कुछ कंपनियों और उनके वेतन की सूची दी गई है वेतन कम या अधिक हो सकता है. 
    • बैंकिंग - प्रति वर्ष 2 से 5 लाख
    • इन्फोसिस - 1.50 से  2 लाख प्रति वर्ष
    • टीसीएस - 1.70 से  2 लाख प्रति वर्ष
    • एलएंडटी - प्रति वर्ष 2 लाख
    • सर्को - प्रति वर्ष 2.30  लाख

    बीबीए कॉलेज : BBA College
    • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट (आईआईएम), इंदौर (Indian Institute of Management (IIM), Indore)
    • शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ़ बिज़नेस स्टडीज, दिल्ली यूनिवर्सिटी (Shaheed Sukhdev College of Business Studies, Delhi University)
    • केशव महाविद्यालय, दिल्ली यूनिवर्सिटी (Keshav Mahavidyalay, Delhi University)
    • दीनदयाल उपाध्याय कॉलेज, दिल्ली यूनिवर्सिटी (DeenDayal Upadhyay College, Delhi University)
    • अनिल सुरेंद्र मोदी स्कूल ऑफ़ कॉमर्स, एनएमआईएमएस यूनिवर्सिटी, मुंबई (Anil Surendra Modi School of Commerce, NMIMS University, Mumbai)
    • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट (आईआईएम), रोहतक (Indian Institute of Management (IIM), Rohtak)
    • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बैंगलोर (Christ University, Bangalore)
    • एचआर कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स, मुंबई यूनिवर्सिटी (HR College of Commerce and Economics, Mumbai University)
    • मिथिभाई कॉलेज, मुंबई यूनिवर्सिटी (Mithibhai College, Mumbai University)
    • सिम्बायोसिस सेंटर फॉर मैनेजमेंट स्टडीज (एससीएमएस ) पुणे, सिम्बायोसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी (Symbiosis Centre for Management Studies (SCMS) Pune, Symbiosis International University)

    यह भी पढ़े :